खूंटी। उपायुक्त, शशि रंजन द्वारा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, मुरहू में अल्ट्रासाउंड मशीन का शुभारंभ किया गया। मशीनों की उपलब्धता से मरीजों के परीक्षण में सहायता मिलने के साथ-साथ स्वास्थ्य व्यवस्था को भी बेहतर करने पर जोर दिया गया है। उपायुक्त द्वारा बताया गया कि प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के तहत गर्भवती महिलाओं के लिए सुगम रूप से अल्ट्रासाउंड की सुविधा मिलेगी। सभी गर्भवती महिलाओं का ए. एन. सी(एंटी नेटल चेकअप) के साथ-साथ अनिवार्य रूप से अल्ट्रासाउंड भी किया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के तहत योग्य लाभार्थी सभी गर्भवती महिलाओं का अल्ट्रासाउंड किया जाना चाहिए ताकि बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित हो सके। उन्होंने कहा कि हमारा उद्देश्य है कि हर स्तर पर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में भी चिकित्सीय सेवाओं को सुव्यवस्थित किया जाय। आगे उन्होंने बताया कि इसी तरह तकनीक पर आधारित अन्य मशीनें भी स्थापित की जाएंगी। मौके पर उन्होंने चिकित्सा प्रभारी एवं सी.डी.पी.ओ को निर्देशित किया गया कि प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के तहत सभी गर्भवती महिलाओं का अल्ट्रासाउंड किया जाना सुनिश्चित कराया जाय एवं प्रतिदिन कम से कम 8 अल्ट्रासाउंड किये जाय। इसी कड़ी में उपायुक्त द्वारा प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के तहत दो लाभुकों को लाभ प्रदान किया गया। उन्होंने कहा कि इसी प्रकार ज्यादा से ज्यादा गर्भवती महिलाओं को उक्त योजना के तहत लाभान्वित किया जाय। उन्होंने कहा कि गर्भवती महिलाओं व अन्य जरूरतमंद लोगों के लिए यह मशीन निश्चित तौर पर स्वास्थ्य सुधार की दिशा में लाभ देगी।

इसके अतिरिक्त उपायुक्त ने स्वास्थ्य केंद्र का निरीक्षण कर स्वास्थ्य सुविधाओं एवं व्यवस्थाओं का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने अस्पताल में उपलब्ध संसाधनों का मुआयना किया तथा मरीजों को मिल रही स्वास्थ्य सुविधाओं व चिकित्सीय उपचार से अवगत हुए। निरीक्षण के क्रम में उपायुक्त ने अस्पताल में उपलब्ध संसाधनों व अन्य स्वास्थ्य व्यवस्थाओं की जानकारी प्राप्त की। इस दौरान उन्होंने कहा कि उक्त अस्पताल में स्वास्थ्य सुविधाओं एवं चिकित्सीय उपचार को सुदृढ़ एवं बेहतर किया जा रहा है ताकि मरीजों को बेहतर चिकित्सा उपचार कराया जा सके। इसके अलावा उन्होंने अस्पताल में कार्य कर रहे चिकित्सकों/स्वास्थ्य कर्मियों/सफाई कर्मियों की स्तिथि की जानकारी ली। उन्होंने अस्पताल में पेयजलापूर्ति, शौचालय, बिजली की आपूर्ति व अन्य बुनियादी सुविधाओं का जायजा लिया। उन्होंने बताया कि मूलभूत सुविधाओं को भी दुरुस्त किया जाय ताकि यहां आने वाले मरीजों को किसी भी प्रकार की कोई असुविधा न हो। उन्होंने सभी संबंधित अधिकारियों को समन्वय बनाकर कार्य संपादित करने का निर्देश दिया। इसके अलावा उपायुक्त ने अस्पताल की नियमित साफ सफाई एवं व्यक्तिगत स्वच्छता पर विशेष ध्यान देने का निर्देश दिया। साथ ही उन्होंने प्रखण्ड विकास पदाधिकारी, अंचल अधिकारी, स्वास्थ्य विभाग के जिला स्तरीय व प्रखण्ड स्तरीय अधिकारियों/कर्मियों को आपसी समन्वय से वैक्सिनेशन में प्रगति सुनिश्चित करने के आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।