साहिबगंज । आजादी के 75 वें वर्षगांठ के उपलक्ष में मनाए जा रहे आजादी का अमृत महोत्सव के अंतर्गत शुक्रवार को हाजीपुर दियारा क्षेत्र की हाजीपुर महिला संकुल संगठन द्वारा वित्तीय साक्षरता एवं सेवा केंद्र का शुभारंभ किया गया।इस अवसर पर कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में उप विकास आयुक्त प्रभात कुमार बरदियार ने शिरकत की जहां महिला संकुल संगठन के सदस्यों ने उनका बुके देकर स्वागत किया। इस बीच मुख्य अतिथि उप विकास आयुक्त एवं प्रखंड विकास पदाधिकारी सदर अब्दुल समद ने दीप प्रज्वलित कर फीता काटते हुए कार्यक्रम का शुभारंभ किया।कार्यक्रम के दौरान बताया गया कि वित्तीय साक्षरता एवं सेवा केंद्र का मुख्य उद्देश्य सुदूर ग्रामीण इलाकों यथा सखी मंडल की हर दीदी तक वित्तीय सेवा प्रदान करना, जैसे-
PMSBY, PMJJBY, APY, PMJAY, Mudra Loan, Individual Finance, Insurance Claim Settlement में सहयोग आदि।
साथ ही सखी मंडल की सदस्यों को वित्तीय साक्षरता पर प्रशिक्षण देना।ज्ञात हो कि झारखण्ड राज्य में साहिबगंज पहला ऐसा जिला बना जिसमे बैंक लिंकेज एचडीएफसी बैंक के माध्यम से किया गया। इस अवसर पर उप विकास आयुक्त,प्रखण्ड विकास पदाधिकारी, एचडीएफसी बैंक के अधिकारी के द्वारा शिव आजीविका महिला सखी मंडल को डेमो चैक प्रदान किया गया।
वहीं कार्यक्रम के दौरान साईं स्वयं सहायता समूह की महिलाओं द्वारा वित्तीय साक्षरता के विषय में प्राप्त प्रशिक्षण से संबंधित अनुभव साझा किया गया। इस दौरान महिलाओं को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया।
कार्यक्रम के दौरान उप विकास आयुक्त श्री बरदियार ने महिला संकुल संगठन की दीदी को संबोधित करते हुए कहा कि वित्तीय साक्षरता एवं सेवा केंद्र के खुल जाने से महिला संगठन की दीदि बैंकिंग प्रणाली से जुड़ सकेंगे एवं वित्तीय लेनदेन, सरकारी योजना,बीमा, ऋण का लाभ आदि सुविधाएं आसानी से मुहैया कराई जा सकेंगी। उन्होंने बताया कि गांव के समग्र विकास हेतु महिलाओं का वित्तीय लेनदेन कि समझ एवं बैंक की प्रणाली से जुड़ाव बेहद आवश्यक है।
उन्होंने महिलाओं से कहा कि अगर वह इसी प्रकार कार्य करती रहे तो समाज के अंतिम व्यक्ति का सरकारी योजनाओं का लाभ निश्चित पहुंच सकेगा।

इस कार्यक्रम में प्रखण्ड विकास पदाधिकारी, विधायक प्रतिनिधि, मुखिया, जिला कार्यक्रम प्रबंधक,प्रखण्ड कार्यक्रम प्रबंधक,प्रखण्ड परियोजना पदाधिकारी,विभिन्न शाखा के शाखा प्रबंधक,सामुदायिक समन्वयक] आई०पी०आर०पी०, सी०एल०एफ० मैनेजर,विभिन्न कैडर एवं सखी मंडल की सदस्यों ने भाग लिया।