साहिबगंज।स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के अंतर्गत नमामि गंगे ग्रामों में ठोस एवं तरल कचरा प्रबंधन के व्यापक इंतजाम हेतु सर्वे कार्यों के लिए एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन उप विकास आयुक्त साहिबगंज के अध्यक्षता में आयोजित की गई।उक्त कार्यक्रम के शुभारंभ में प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए उप विकास आयुक्त श्री बरदियार ने कहा की ठोस एव तरल कचरा प्रबंधन के व्यापक इंतजाम के बाद ही गांव को स्वच्छ एवं सुंदर बनाया जा सकता है, इस कार्य के लिए यह आवश्यक है कि ग्राम स्तर पर व्यक्तिगत, संस्थागत एवं समुदाय स्तर पर ठोस एवं तरल कचरा प्रबंधन का व्यापक इंतजाम हो, इस कार्य हेतु जलसहियाओं की भूमिका काफी महत्वपूर्ण है।
उन्होंने कहा कि कार्य प्रारंभ करने के पहले यह आवश्यक होगा कि जल सहिया घर घर जाकर सर्वे का कार्य दिए गए प्रारूप के अनुरूप करें।कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पेयजल स्वच्छता विभाग के कार्यपालक अभियंता ने जानकारी देते हुए बताया कि ठोस एवं तरल कचरा प्रबंधन हेतु ग्राम स्तर पर सर्वे किए जाने हेतु एक महत्वपूर्ण जिम्मेदारी आप सभी जलसहियाओं को दी जा रही है आप लोग अपने कर्तव्य का निर्वहन सही तरीके से करें।
प्रशिक्षण कार्यक्रम में प्रतिभागियों के बीच प्रेजेंटेशन के माध्यम से प्रशिक्षित किया गया एवं ठोस एवं तरल कचरा के प्रबंधन के 6 महत्वपूर्ण आयामों को विस्तृत रूप से बताया गया जिसमें
★शौचालय उपयोग की स्थायित्व को बनाए रखना
★ठोस एवं तरल कचरा का प्रबंधन ★प्लास्टिक कचरा का प्रबंधन
★गोवरधन योजना
★सुरक्षित महावारी प्रबंधन
★मानव मल प्रबंधन
पर विशेष रूप से ज़ोर दिया गया।
इस दौरान सर्वे प्रतिवेदन के लिए व्यक्तिगत संस्थागत एवं सामुदायिक स्तर पर लाभुक बार आवश्यकता अनुरूप संरचनाओं की आवश्यकता पर बल दिया गया।

मौके पर जिला समन्वयक जीनत परवीन, राहुल कुमार, आशीष यादव, राजेश कुमार, अनिल शाह, जाहिद, अनिल कुमार एवं अन्य उपस्थित थे।