लोहरदगा l दुर्गा पूजा को ले जिले में शांति व्यवस्था रहे इसको लेकर उपायुक्त दिलीप कुमार टोप्पो ने पुलिस अधीक्षक प्रियंका मिणा ने संयुक्त आदेश जारी किए है। उपायुक्त व पुलिस अधीक्षक ने कोविड-19 के मद्देनजर सरकार की ओर से जारी गाइडलाइन का सख्ती से अनुपालन सुनिश्चित कराने का निदेश दिया। उपायुक्त ने कहा कि दुर्गा पूजा शांतिपूर्ण, सौहादर्पूर्ण वातावरण में सादगी के साथ मनायें। दुर्गा पूजा में सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन का अनुपालन अनिवार्य है। पूजा के दौरान मंदिर या पूजा पंडालों में भिड़ नहीं लगने दें। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि अपने-अपने क्षेत्र में भव्य पूजा पंडाल का निर्माण, थीम आधारित पूजा पंडाल निर्माण, विघुत सज्जा, लाउडस्पीकर बजाना, भव्य मूर्ति तोरण द्वार का निर्माण इत्यादि आकर्षित करने वाले कार्यो को कदापी नहीं होने दें। इन सबों पर रोक रखते हुए सरकार की ओर से जारी गाइडलाइन/मानक के अनुरूप ही स•ाी कार्य होना चाहिए। पंडाल में विराजमान माता की प्रतिमा को कपड़ा से चारों ओर से ढंकने का निर्देश दिया गया है। डीएम व एसपी ने संयुक्त आदेश में विभिन्न स्थानों पर दण्डाधिकारियों व पुलिस पदाधिकारियों की नियुक्ति कर दी गई हैं। ताकि जिले में शांति व सौहार्द के माहौल में दुर्गा पूजा संपन्न हो सके। नवरात्र एवं दशहरा तक प्रतिनियुक्त पदाधिकारी अपने निर्धारित स्थल पर जिम्मेदारी संभालेंगे। प्रतिनियुक्त पदाधिकारी असामाजिक तत्वों के विरुद्ध कार्रवाई अफवाह फैलाने वालों के विरुद्ध कारर्वाई, शांति समिति का गठन, जुलुस नियंत्रण, सांस्कृतिक कार्यक्रम आदि की निगरानी करेंगे एवं सतकर्ता बरतेंगे। मूर्ति विसर्जन होने तक प्रतिनियुक्ति स्थल पर बने रहेंगे। दुर्गा पूजा के दौरान किसी भी अप्रिय घटना से बचने हेतु दंडाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारियों के प्रतिनियुक्ति के अतिरिक्त अग्निशमन यंत्र, पेयजल सफाई एवं विद्युत की समुचित व्यवस्था रखने हेतु संबंधित कायर्पालक अभियंता एवं कमिर्यों को जिम्मेदाीर सौंपी गई है। जबकि अनुमंडल पदाधिकारी एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी के अलावे सभी प्रखण्ड के बीडीओ, सीओ व थाना प्रभारी अपने-अपने क्षेत्रों में विधि व्यवस्था के संपूर्ण प्रभार में रहेंगे। शहर के महत्वपूर्ण पूजा पंडालों में षष्टी से विजयादशमी तक विशेष जांच अभियान चलाया जाएगा। प्रत्येक जोन में दंडाधिकारी व डीएसपी के साथ सुरक्षा बलों की तैनाती होगी। वहीं जोनवार नियंत्रण कक्ष बनाकर पूरी स्थिति पर नजर रखी जाएगी।