सोशल मीडिया पर अफवाहों एवं भ्रामक खबरों का न करें समर्थन- उपायुक्त राम निवास यादव।

साहिबगंज । दुर्गा पूजा को देखते हुए जिले में विधि व्यवस्था के संधारण हेतु शांति समिति की बैठक आज सभी सीडीपीओ एवं थाना प्रभारियों के साथ समाहरणालय स्थित सभागार में उपायुक्त रामनिवास यादव की अध्यक्षता में आयोजित हुई।
इस दौरान उपायुक्त श्री यादव ने कहा कि कोरोना से बचाव के मद्देनजर इस वर्ष दुर्गा पूजा का आयोजन राज्य सरकार द्वारा जारी निर्देशों के आलोक में जिला प्रशासन द्वारा जारी किए गए दिशा निर्देशों का शत-प्रतिशत पालन करते हुए ही किया जाना है। इसके साथ ही उन्होंने सभी क्षेत्रों में असामाजिक तत्वों के खिलाफ धारा 107 की कार्रवाई करने का निर्देश दिया। पुलिस अधीक्षक अनुरंजन किस्पोट्टा ने सभी प्रशासनिक था पुलिस अधिकारियों को पर्व के शांतिपूर्ण आयोजन के लिए इंटरनेट मीडिया पर विशेष रूप से ध्यान रखने तथा किसी भी प्रकार की अफवाह सामने आने पर त्वरित कार्रवाई करने का निर्देश दिया। उपायुक्त एवं पुलिस अधीक्षक ने शांति समिति के सभी सदस्यों को जानकारी दी कि पर्व के आयोजन के दौरान कहीं से भी अगर दिशा-निर्देशों के उल्लंघन से संबंधित मामला सामने आता है तो संबंधित पर एफआईआर दर्ज करते हुए कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इसके साथ ही उन पर आपदा प्रबंधन अधिनियम की सुसंगत धाराओं के तहत भी कार्रवाई की जाएगी। मूर्ति विसर्जन के संबंध में जानकारी देते हुए उपायुक्त श्री यादव ने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा निर्धारित की गई जगह पर शांतिपूर्ण तरीके से से ही मूर्ति का विसर्जन किया जाना है।बैठक में अनुमंडल पदाधिकारी साहिबगंज ने हेमंत सती ने राज्य सरकार द्वारा जारी किए गए गाइडलाइ बताते हुए सभी पदाधिकारियों से आपसी सामंजस्य बिठाकर विधि व्यवस्था बनाए रखने हेतु कार्य करने का आग्रह किया।
उपायुक्त श्री यादव ने बताया कि कोरोना संक्रमण का प्रसार नहीं हो इस उद्देश्य से इस वर्ष पंडाल में प्रसाद व भोग के वितरण की अनुमति नहीं दी गई है। इस पर जिला प्रशासन का कोई प्रतिबंध नहीं है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार का इस संबंध में स्पष्ट दिशा-निर्देश है कि पंडाल में या उसके आसपास कोई सामुदायिक आयोजन या भीड़ एकत्रित कर भोग का वितरण नहीं किया जाना है।

. राज्य सरकार द्वारा जारी किए गए दिशा निर्देश के अनुसार इस वर्ष दुर्गा पूजा में,

. दिनांक-07.10.2021 को कलश स्थापना के साथ ही दुर्गा पूजा शुरू हो गई है तथा दिनांक-15.10.2021 को विजयादशमी के दिन प्रतिमा का विसर्जन होगा।

. झारखंड सरकार द्वारा दुर्गापूजा 2021 के सम्बन्ध में पूजा कमिटियों के लिए निम्न प्रकार दिशा-निर्देश जारी किया गया है :-

. दुर्गा पूजा विशेष रूप से बनाए गए छोटे पंडालों मंडपों में की जा सकती है, जहां यह पारंपरिक रूप से किया जाता है। बिना लोगों के भागीदारी के अनुष्ठान किया जाय।

. कंटेनमेंट जोन के बाहर पूजा पंडाल के निर्माण की अनुमति है।

. दुर्गा पूजा पंडाल / मंडप सभी तरफ से बैरिकेडिंग किया जाएगा और आगंतुकों के प्रवेश को रोकने के लिए तीन तरफ से कवर किया जाएगा । भक्त बैरिकेड्स के बाहर दूर से ही दर्शन कर सकते हैं।

. पंडाल / मंडप का निर्माण किसी विषय(थीम) पर नहीं किया जाएगा।

. पूजा पंडाल / मंडप के आसपास के क्षेत्र में प्रकाश द्वारा कोई सजावट नहीं की जाएगी। सुरक्षा और सुरक्षा के उद्देश्य से आवश्यक प्रकाश व्यवस्था की अनुमति है।

. पूजा पंडाल / मंडप में और उसके आसपास कोई स्वागत द्वार/तोरण द्वार नहीं बनाया जाएगा।

. प्रतिमा स्थापना स्थल को छोड़कर शेष पंडाल का स्थान खुला रहेगा।

. मूर्ति का आकार 5 फीट से अधिक नहीं होना चाहिए।

. ध्वनि विस्तारक / माईक का उपयोग ध्वनि प्रदूषण (विनियमन और नियंत्रण) नियम, 2000 के अनुपालन में मंत्र/पाठ/आरती के सीधा प्रसारण के लिए अनुमति दी जा सकती है। सार्वजनिक संबोधन प्रणाली के माध्यम से टेप/ऑडियो/डिजिटल रिकॉर्डिंग का कोई प्रसारण नहीं किया जाएगा।

. पूजा पंडाल में उपस्थित रहने वाले सभी पूजा समिति के सदस्य/ पुजारी/स्वयंसेवक यह सुनिश्चित करेंगे कि कि उन्हें कम से कम एक टीका COVID-19 का लग गया है।

. इस अवसर पर कोई मेला आयोजित नहीं किया जाएगा।

. दुर्गा पूजा पंडाल/ मंडप में और उसके आसपास कोई भी फूड स्टॉल नहीं खोला जाएगा।

. एक समय में दुर्गा पूजा पंडाल/मंडप में आयोजकों, पुजारियों और सहयोगी स्टाफ सहित 25 से अधिक व्यक्ति उपस्थित नहीं होंगे।

. विसर्जन जुलूस नहीं होगा। मूर्तियों को इस प्रयोजन के लिए जिला प्रशासन द्वारा अनुमोदित स्थान (स्थानों) पर विसर्जित किया जाएगा।

. कोई संगीतमय या कोई अन्य मनोरंजन/ सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन नहीं होगा।

. कोई सामुदायिक भोज/प्रसाद या भोग वितरण समारोह आयोजित नहीं किया जाएगा । प्रसाद की होम डिलीवरी पर कोई रोक नहीं है।

. आयोजकों/पूजा समितियों द्वारा किसी भी प्रकार का कोई आमंत्रण जारी नहीं किया जाएगा।

. पंडाल / मंडप के उद्घाटन के लिए कोई सार्वजनिक समारोह/कार्यक्रम आयोजित नहीं किया जाएगा।

. पंडाल निर्माण के लिए किसी भी तरह की सड़क जाम नहीं की जाएगी।

. किसी भी सार्वजनिक स्थान पर गरबा/डांडिया कार्यक्रम का आयोजन नहीं किया जाएगा।

. सार्वजनिक स्थान पर रावण का पुतला नहीं जलाना चाहिए क्योंकि इससे भारी भीड़ उमड़ती है।

. सार्वजनिक स्थानों पर फेस कवर / मास्क पहनना अनिवार्य है ।

. पंडाल में 18 वर्ष से कम आयु के व्यक्तियों को उपस्थित नहीं होना चाहिए।

. सार्वजनिक स्थानों पर न्यूनतम 6 फीट की दूरी बनाये रखना आवश्यक है।

. पूजा पंडाल / मंडप में उपस्थित होने वाले व्यक्ति केंद्र/राज्य सरकार/जिला प्रशासन द्वारा जारी किए गए सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क के उपयोग, व्यक्तिगत स्वच्छता और स्वच्छता के सभी COVID-19 प्रोटोकॉल का अक्षरशः पालन करेंगे।

. पूजा का आयोजन करने वाले पूजा कमिटि सदस्यों एवं आयोजन में शामिल अन्य व्यक्तियों को जिला प्रशासन/ सक्षम प्राधिकारी द्वारा लगाई गई किसी भी अन्य शर्तों का पालन करना अनिवार्य होगा।

. दंडात्मक प्रावधान- इन उपायों का उल्लंघन करने वाले किसी भी व्यक्ति/पूजा समिति पर आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 51 से 60 के प्रावधानों के अनुसार कार्यवाही की जा सकती है, इसके अलावे आई.पी.सी की धारा 188 एवं अन्य सुसंगत कानूनी प्रावधानों के तहत कार्रवाई की जायेगी।

बैठक में उपायुक्त ने सभी थाना प्रभारियों एवं प्रखंड विकास पदाधिकारियों से उक्त गाइडलाइन का पालन कराना सुनिश्चित करने की बात कही साथ ही उन्होंने संबंधित पदाधिकारियों से उनके प्रखंड में हुए शांति समिति की बैठक की जानकारी भी प्राप्त की।
उन्होंने संबंधित अधिकारियों से कहा कि यह जानकारी देना सुनिश्चित करें की पूजा पंडाल का संचालन करने वाले वॉलिंटियर एवं पुजारी सभी वैक्सिनेट हों।

इस बीच उपायुक्त श्री यादव ने कहां की पूजा के दौरान विधि व्यवस्था से संबंधित किसी प्रकार की समस्या आने पर पूजा समितियों द्वारा नियंत्रण कक्ष में सूचित किया जा सकता है, जहां जिला एवं पुलिस प्रशासन द्वारा उक्त संबंध में त्वरित कार्यवाही की जाएगी।
. जिला कंट्रोल रूम नंबर
. 6287590758, 9006963963, 06436356485, 06436222100

इसी क्रम में उपायुक्त श्री यादव ने जिले वासियों से अपील की है कि उक्त गाइडलाइन के अनुसार ही दुर्गा पूजा उत्सव मनाए। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण अब तक पूरी तरह से टला नहीं है,इसलिए सभी लोगों को सुरक्षा का खास ख्याल रखना है और पुलिस एवं जिला प्रशासन का सहयोग देने का आग्रह किया। उन्होंने जिले वासियों से कहा कि दुर्गा पूजा के दौरान सोशल मीडिया पर किसी भी प्रकार के अफवाह या भ्रामक खबरों का समर्थन ना करें।
इसके अलावा उपायुक्त एवं पुलिस अधीक्षक ने जिले वासियों को दुर्गा पूजा की शुभकामनाएं दी।बैठक में उपायुक्त के अलावे पुलिस अधीक्षक अनुरंजन किस्पोट्टा वन प्रमंडल पदाधिकारी मनीष तिवारी उप विकास आयुक्त प्रभात कुमार बरदियार, अपर समाहर्ता अनुज कुमार प्रसाद,अनुमंडल पदाधिकारी साहिबगंज हेमंत सती, अनुमंडल पदाधिकारी राजमहल रोशन शाह, सिविल सर्जन डॉ अरविंद सभी सभी थाना प्रभारी, विभिन्न विभागों के वरीय पदाधिकारी, सभी प्रखण्ड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी एवं अन्य उपस्थित थे।