चाईबासा । दुर्गा पूजा का त्योहार होने के बावजूद कर्मचारियों को वेतन नहीं मिलने से काफी नाराजगी है। पश्चिमी सिंहभूम जिले में एनआरएचएम के अंतर्गत जीएनएम, एएनएम, फार्मासिस्ट और लैब टेक्नीशियन सहित अन्य पदों पर करीब 900 कर्मचारी कार्यरत हैं। कोविड-19 के संक्रमण काल के दौरान भी लगातार इन्होंने काम किया, लेकिन इन्हें पिछले 6 महीना से सरकार ने वेतन ही नहीं दिया। कई बार मांग भी उठी लेकिन आश्वासन की घुट्टी पिलाकर इन्हें चुप करा दिया गया। त्योहार के मौके पर भी जब वेतन नहीं मिला तो आखिरकार इन्होंने हड़ताल पर जाने का मन बना लिया और आज से सिविल सर्जन कार्यालय के सामने धरना पर बैठ गए हैं। झारखंड राज्य अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ और झारखंड राज्य जन स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के बैनर तले कर्मचारियों ने सरकार के खिलाफ आंदोलन शुरू कर दिया है। झारखंड राज्य जन स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के जिला मंत्री मनोरंजन कुमार का कहना है कि पर्व के दौरान भी जिले में कर्मचारियों को वेतन नहीं दिया जा रहा है। ऐसा अक्सर होता है। उन्होंने सरकार से सवाल किया कि करोड़ों की लूट हो रही है तो क्या कर्मचारियों का वेतन देने के लिए ही खजाना खाली है। कोरोना काल में स्वास्थ्य कर्मियों ने रात दिन काम किया लेकिन आज उनकी स्थिति ऐसी हो गई है कि अपने बच्चों के लिए कपड़ा भी नहीं खरीद सकते।