कुडू/लोहरदगा l रेलवे स्टेशन का नाम कमले या बड़की चापी? के विवाद में उलझा एक लोहरदगा टोरी रेलवे लाइन में अवस्थित एक बेनाम रेलवे स्टेशन अब कमले नाम से जाना जाएगा। इसको लेकर ग्राम प्रधान शिव शंकर भगत की अध्यक्षता मर कमले स्टेशन के समीप एक बैठक की गयी। जिसमे प्रखंड प्रशासन, स्थानीय जनप्रतिनिधि और दोनों गांव के सैंकड़ो ग्रामीण मौजूद रहे। जिसमे ग्रामीणों को जानकारी दी गयी कि रेलवे स्टेशन मौजा कमले के प्लॉट न. 72, 73, 75, 76, 77 एवं 82 में इसलिए स्टेशन का नाम कमले ही रहेगा। जिसपर सभी ने अपनी सहमति दी। ग्राम सभा में पंचायत सचिव, राजस्व उप निरीक्षक, अंचल अमीन, सुंदरू, सलगी एवं बड़की चापी पंचायत के मुखिया, सुन्दरु की पंचायत समिति सदस्य और ग्रामीण उपस्थित थे। गौर तलब है कि वर्ष 2011 से कमले और बड़की चापी के ग्रामीणों के बिच विवाद को लेकर इस स्टेशन को आजतक एक नाम तक नसीब नहीं हो सका है। कई बार रेलवे अधिकारीयों और स्थानीय प्रशासन की पहल के बावजूद दोनों गाँव के लोग अपने अपने गाँव के नाम पर स्टेशन का नाम रखने की ज़िद पर अड़े थे। जिसके नतीजे में स्टेशन कुछ दिनों तक बड़की चापी के नाम से जाना गया और बाद में बेनाम होकर रह गया था।