मुतार्जा व नईम का अपराधिक इतिहास खागल रही है पाकुड़ पुलिस

पाकुड़। जिला मुख्यालय के कुमारपुर पंचायत के रानीपुर गांव का रहने वाला मुर्तजा एवं शहर के बड़ी अलीगंज के निवासी नईम अख्तर चेन्नई में कांचीपुरम में एक महिला के गले से सोने का चेन छीन कर भागने के क्रम में पुलिस के साथ मुठभेड़ में मुर्तजा पुलिस के गोली लगने से मारा गया है। वह रानीपुर गांव का रहने वाला था। वहीं चेन्नई पुलिस ने मुर्तजा के साथी नईम अख्तर को भी हथियार के साथ गिरफ्तार करने में सफलता पाई है। बताया जाता है कि नईम अख्तर के पास से करोड़ों रुपए बरामद हुए हैं। नईम पाकुड़ शहर के बड़ी अलीगंज का रहने वाला है। प्राप्त सूचना के अनुसार दोनों ने पिछले रविवार की शाम चेन्नई के श्रीपेरंबदूर पेनाल्लूर गांव के पास एक महिला से सोने का चेन लूट कर भाग रहा था । हो हल्ला सुनकर पुलिस ने उसका पीछा किया था। सीसी टीवी फुटेज के आधार पर सोमवार को कांचीपुरम पुलिस मुर्तजा के साथी नईम को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की। बताया जाता है कि उसके पास एक करोड़ रुपए व हथियार बरामद हुआ है। नईम ने पूछताछ में मुर्तुजा का नाम लिया। उसके निशान देही पर पुलिस ने मुर्तुजा को पकड़ने के लिए जैसे ही छापा मारी उसने पुलिस पर फायरिंग करना शुरू कर दी। अपने बचाव में पुलिस ने भी गोली चलाई । गोली लगने से मुर्तुजा के मारे जाने के समाचार है। प्राप्त जानकारी के अनुसार कुछ माह पूर्व वह एक बड़ी कंपनी में काम मिलने का कहकर वह चेन्नई गया था। परिजन शव के इंतजार कर रहे हैं । एसपी हृदिप पी जनार्दन ने इस विषय गम्भीरता से लेते हुए दोनों के आपराधिक रिकॉर्ड खगालने के आदेश दिए हैं। कयास लगाए जा रहे हैं मुर्तुजा के अन्य साथी भी टीम में हो सकते हैं । पाकुड़ में भी छिनतई की बरदात हुई हैं।