साहिबगंज । शनिवार को हिंदू धर्म रक्षा मंच के केंद्रीय अध्यक्ष संत कुमार घोष एवं प्रमुख कार्यकर्ता के साथ मोती झरना को घूमने एवं निरीक्षण करने के लिए निकले जिसमें से केंद्रीय अध्यक्ष संत कुमार घोष ने कहा कि झारखंड का एकलौता झड़ना मनमोहक दृश्य पर्यटक एवं श्रद्धालु को मन को मोहित करने वाला मोती झरना है । निरीक्षण के दौरान छोटी मोटी कमियां दिखाई पड़ा जो छोटी मोटी कमियां के कारण ही बड़ी बड़ी घटना घटती है मोती झरना पहाड़ के ऊपर 200 फिट से गिरने वाले झरना जो मोती नाथ बाबा पहाड़ के गुफा से झरना तलाब मे सालों भर पानी बरसते रखते हैं उक्त झरने के पानी में श्रद्धालु एवं पर्यटक स्नान करते हैं झरना के उपर जंगल में बंदरों का झुंड फूदक फूदक कर मस्ती करने के दौरान पत्थर का टुकड़ा स्नान कर रहे श्रद्धालु एवं पर्यटकों पर गिरते हैं जिससे बड़ी घटना घटती है पर्यटक को मौत का भी सामना करना पड़ता है और बराबर आए दिन छोटी मोटी घटना घटती है इससे बचाव होती एकमात्र उपाय गुफा से झरना तक छाता नुमा तार का जाली लगवाने पर बड़ी घटना से बचा जा सकता है स्थानीय कमेटी एवं सामाजिक कार्यकर्ता बराबर स्थानीय प्रशासन एवं झारखंड सरकार को ध्यान आकृष्ट कर आए हैं फिर भी इस पर ध्यान नहीं दिया गया है मैं इस समाचार पत्र के माध्यम से झारखंड सरकार को ध्यान आकृष्ट कराते हुए कहना है कि पर्यटन विभाग कि ओर से मोती झरना का निरीक्षण कर छत अनुमान जालीदार तार लगवाने की मांग करता हूं । और श्रद्धालु एवं पर्यटकों के ठहरने के लिए धर्मशाला की व्यवस्था भी हो ताकि पर्यटक मोती झरना में विश्राम कर गंगा और पहाड़ों का झरना का मनमोहक दृश्य का मनोरंजन लाभ उठा सके आज निरीक्षण के दौरान हिंदू धर्म रक्षा मंच के केंद्रीय अध्यक्ष संत कुमार घोष महासचिव बजरंगी महतो धर्मेंद्र यादव चंदन यादव राहुल गुप्ता मनोज मंडल शशांक कुमार आदि दर्जनों कार्यकर्ता मोती झरना का निरीक्षण किया।