सफा होड़ ने की रीति रिवाज से नृत्य

पाकुड़ । नवरत्रि एवं दुर्गा पूजा के शुभ अवसर पर प्रधान कार्यकारी समिति ज़िला परिषद् पाकुड़ बाबूधन मुर्मू ने अपने आवास में सुदूरवर्ती गॉंव से आये हुए आदिवासी नृत्य दल के धुन के साथ खूब झूमे । हर साल दुर्गा पूजा के पावन अवसर पर साफ होड़ द्वारा दुर्गा मंडप में अपने परम्परा के अनुसार श्वेद वस्त्र धारण कर परंपरिक तरीके से मां दुर्गा के समक्ष नृत्य करते आ रहे है ।उनहोने नृत्य दल के सभी साथियो को बेहतरीन आनंद के लिए धन्यबाद दिया एवं सबों की प्रशंशा की। नृत्य दल में पाकुड़ ज़िले के लिट्टीपाड़ा , अमरापाड़ा , पाकुड़िया , महेशपुर , पाकुर , हिरणपुर के साथ साथ संथाल परगना के अनन्य ज़िले के भी शिल्पकर शमी थे।
नवरात्री के पवन अवसर पर बाबूधन मुर्मू ने अपने निजी आवास में कुमारी कन्या पूजन किया । उन्होंने कहा की धार्मिक मान्यताओं के अनुसार कन्या पूजन करने से ही व्रत पूर्ण माना जता है। उन्होंने आगे कहा को नारी शक्ति के विकाश से समाज सशस्क्त होगा । हमारे संस्कृति और इतिहास भी नारी सम्मान एवं नारी सशक्तिकरण पर जोर देती है।