रांची । राँची के डोरंडा स्थित छप्पन सेट में माँ दुर्गा की प्रतिमा का विसर्जन, बटम तालाब डोरंडा म़े पूरे विधि विधान के साथ कोरोना गाइडलाइन के तहत कर दिया गया।अपराहन 1.00 बजे राँची महागर दुर्गा पूजा समिति के मुख्य संरक्षक आलोक कुमार दूबे के नेतृत्व में सीमित संख्या में महिलाओं की उपस्थिति में विसर्जन शोभायात्रा जुलूस निकाला गया एवं छप्पन सेट. चौंक, गोरखा चौक, राजेंद्र चौक होते हुए अपराहन 3:30 बजे बटन तालाब में पहुंचकर मां की आरती की गई एवं उनसे आशीर्वाद लिया राज्य की तरक्की,प्रगति एवं एक एक व्यक्तियों के जीवन में खुशहाली लाने एवं कोरोना महामारी से मुक्ति के लिए प्रार्थना किया।
विसर्जन शोभायात्रा के पूर्व मां दुर्गा की वैदिक मंत्रोच्चार के साथ पूजा अर्चना की गई एवं खोइंचा भरा गया तथा मां की चुनरी ओढ़कर उत्साह एवं हर्षोल्लास के साथ परंपरा का निर्वहन करते हुए शोभायात्रा निकाली गई एवं डोरंडा,हीनू,मेकन,सेटेलाइट कालोनी के सभी पूजा पंडालों के मां दुर्गा का विसर्जन डोरंडा बटम तालाब में कर दिया गया।मौके पर महानगर दुर्गा पूजा समिति के संरक्षक लाल किशोर नाथ शाहदेव,नीरा किशोर,छप्पन सेट दुर्गा पूजा समिति के अध्यक्ष गोपी दूबे,संस्थापक सदस्य कपिलदेव सिंह,नीरज कुमार,अमोल कुमार, सर्वेश कुमार, दीपक कुमार, एस.के.झा,शशिकांत,विवेक सिंह, मनोज कुमार तिवारी,मनोज सिंह,राजीव बर्मा,राकेश बर्मा,विजय गुप्ता,दीपक ठाकुर,आयुष कुमार, सन्नी कुमार, अभिषेक कुमार, काली मिश्रा,राहुल पाण्डेय,कमलेश झा,अभय सिंह,टींकू यादव मुख्य रुप से उपस्थित थे।
इस बीच महानगर दुर्गा पूजा समिति के मुख्य संरक्षक आलोक कुमार दूबे ने दुर्गा पूजा महोत्सव आस्था, भक्ति, विश्वास व श्रद्धा से मनाए जाने के लिए राजधानी की जनता को विशेष रूप से धन्यवाद दिया, जिला प्रशासन एवं सरकार के दृढ़ निश्चय एवं उचित कदम की वजह से वे धन्यवाद के पात्र हैं जिन्होंने 2 वर्ष के बाद लोगों की आस्था का सम्मान किया एवं पूजा सफल बनाने में एक निश्चित गाइडलाइन के तहत लोगों के बीच जागरूकता पैदा की और पूरे देश भर से अलग झारखंड की जनता ने सरकार के निर्णयों के साथ खड़े रहकर प्रशासन को पूरा सहयोग और समर्थन देते हुए भक्ति भाव से त्योहार संपन्न किया।