हजारीबाग । विश्व हाथ धुलाई दिवस पर सदर प्रखंड के पौता मैदान में मंगलवार को प्रखंड के छह सौ बेटियों के बीच साबून और नेल कटर का वितरण कर उन्हें स्वच्छता के प्रति जागरुक रहने का संदेश दिया गया। अंतर्राष्ट्रीय संस्था जायका के बैनर तले स्वच्छ आदत अभियान के तहत बेटियों को हाथ धोने के तरीके बताए गए। बीमारी से बचने और इसके क लिए किए जाने वाले उपाय की जानकारी दी गयी। नया सवेरा के सचिव बीरेंद्र कुमार के नेतृत्व में कार्यक्रम का आयोजन किया गया। बतौर मुख्य अतिथि श्रद्धानंद सिंह समारोह में शामिल हुए। संबोधित करते हुए बेटियों को अच्छी आदतें अपनाने और बुराई से दूर रहने का संदेश दिया। शिक्षा और खेलकूद में आगे बढ़ने की प्रेरणा कहानी के माध्यम से देते हुए उनकी शिक्षा में आने वाली कठिनाई को दूर करने का आश्वासन दिया। मौके पर आयोजन प्रमुख बीरेंद्र कुमार ने बताया कि हाथ धोकर कई बीमारी को दूर किया जा सकता है। कोविड का उदाहरण देकर अच्छी आदत के तहत हाथ धोने की बात कहीं। कहा कि हाथ धोकर 60 प्रतिशत तक बीमारी दूर किया जा सकता है। बताया कि कम से कम 30 संकेड हाथ में साबून लगाकर रगड़ने की बात कहीं। कहा कि 30 सेंकेंड में हाथ में होने वाले किटाणु मर जाते है। बताया कि हाथ से हीं कई तरह के बीमारियों शरीर में प्रवेश करती है। श्री बीरेंद्र ने यह आयोजन जायका इंडिया के सहयोग से किया।

10 गांव से आयी थी बेटियां, सखी मंडल के भी महिलाएं हुई शामिल

जायका के तत्वाधान में आयोजित समारोह में सदर प्रखंड के पौता, गुरहेत, चंदवार, मरहेता, चिलचलैया, डहवा, रेवार, धवैया, बहोरनपूर आदि से बच्चियों के साथ विभिन्न सखी मंडल के सदस्य पहुंची थी। मौके पर स्वयं सहायता समुह के 25 गांव के लीडर विशेष रुप से उपस्थित थे।