पाकुड़ ( लिट्टीपाड़ा ) । सोमवार को अचानक प्रखंड क्षेत्रों के सभी जगह बेमौसम बारिश होने से किसानों के लिए चिंता का विषय बन गया है।जोरदार बारिश से लाखों किसानों के मन में धान बलि सड़ने की भय पैदा हो गया है।बारिश के साथ साथ तेज रफ्तार अंधी तूफान हुई।जिससे लाखों किसानों की खेत में लगी हरे भरे धान खेतों में ही गिर गई है।खेतों में धान गिरने से सड़ने की भय सत्ता रही है।सभी किसान को ।इस तरह अचानक बारिश होने से लिट्टीपाड़ा प्रखंड के हर क्षेत्रों की किसानों के लिए धान खेती में भारी नूक्सानदायक सबित हो रही है।जिस किसानों ने अपने कड़ी लागान और मेहनत से लाखों एकड़ जमीन में धान की खेती सालों भर खाने के लिए किए है।बेमौसम बारिश ने पल भर में किसानों के सापनों को तार तार किया।किसानों के लिए बेमौसम बारिश एक पहाड़ सी टूट पड़ी।सबसे ज्यादा उन किसानों के लिए घातक साबित हो रहे हैं।जो बैंक से लोन लेकर अपने जी तोड़ मेहनत करके धान की खेती किए थे।आज पल भर के बेमौसम बारिश ने किसानों की मेहनत मे पानी फेरने का काम किया।इसी तरह लागातार बरिश, अंधी तूफान होता रहा तो निश्चित तौर पर किसानों की धान की खेती मे नूक्सान पहुँचाने की संभावना है।