पाकुड़ ( लिट्टीपाड़ा ) | गुप्त सूचना के आधार पर वन प्रमंडल पदाधिकारी रजनीश कुमार के निर्देशन में गठित विशेष गस्ती दल के द्वारा रविवार की रात्रि में प्रखंड के लवदाघाटी ग्राम के समीप लिट्टीपाड़ा-कुंजबोना सड़क के पश्चिमी किनारे झाड़ियों में छुपा कर रखा गया 20 पीस सेमल का बोटा बरामद किया गया। छापेमारी टीम में वनकर्मी अनुपम कुमार यादव, वनरक्षी मोहिलाल मुर्मू शामिल थे।जवानों ने बताया कि रात होने के कारण वे इन बोटों की निगरानी रात भर करते रहे, ताकि माफिया मौका पाकर इसे उठा न ले जाए। सुबह होने पर वनकर्मीयों के द्वारा ट्रेक्टर व एक जेसीबी की व्यवस्था की गई, तथा इन बोटों को जप्त कर ट्रैक्टर में लोड कर वन परिसर कार्यालय, लिट्टीपाड़ा के प्रांगण में लाकर सुरक्षित रखा गया है। स्थानीय लोगों ने बताया कि लकड़ी माफियाओं द्वारा आस पास के भोले भाले ग्रामिणों को बहला फुसलाकर उनके रैयती जमीन पर खड़े वृक्षों को औने-पौने दामों में खरीद कर और कटवाकर छिपा कर रखा जाता हैं और मौका पाकर इसकी तस्करी कर कथित रुप से बंगाल पहुंचाने का काम किया जाता हैं। वन विभाग लगातार विषेश गस्ती एवं छापेमारी करके इनके मनसूबों को ध्वस्त करने का काम कर रहा है। डीएफओ रजनीश कुमार के द्वारा बताया गया कि लकड़ी तस्करी के रोकथाम हेतु स्थानीय नागरिकों तथा ग्रामिणों को भी जागरुक होना होगा ताकि खड़े और हरे वृक्षों को कटने से पहले बचाया जा सके। इन लकड़ी तस्करों के गतिविधियों पर कड़ी निगरानी रखी जा रही है, और इनके मनसूबों को सफल नहीं होने दिया जाएगा। डीएफओ ने ग्रामीणों से अपील किया है कि वे इस तरह की वृक्ष की कटाई या ढ़ुलाइ की घटना जहां कहीं भी देखें तो इसकी सूचना निकटवर्ती वन कर्मियों को, या वन क्षेत्र पदाधिकारी को या सीधे वन प्रमंडल पदाधिकारी को दें, इस पर अविलंब कार्रवाई की जाएगी। सूचना देनेवाले व्यक्ति का नाम एवं पहचान गुप्त रखा जाएगा।