लोहरदगा l ग्रेटर त्रिवेणी पब्लिक स्कूल लोहरदगा में शरद-पूर्णिमा उत्सव के दिन महर्षि बाल्मीकि जी की जयंती धूमधाम के साथ मनाई गई । इस अवसर पर हिंदी की वरिष्ठ शिक्षिका सुनिता चित्तौड़ ने छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि आदि कवि महर्षि वाल्मीकि द्वारा संस्कृत भाषा में लिखित महाकाव्य रामायण के सभी पात्रों का चरित्र अनुकरणीय रहा है। उन्होंने कहा कि राजा, प्रजा, सेवक, माता-पिता, भाई-बहन, पति- पत्नी, पिता-पुत्र यहां तक की असुरों के साथ-साथ बंदर- भालू जैसे जीवों का भी चरित्र हमारे लिए शिक्षाप्रद और अनुकरणीय रहा है। जिन्हें अपनाकर हम सुंदर परिवार और समाज की स्थापना कर सकते हैं। जयंती कार्यक्रम में प्रणव कुमार ने महर्षि बाल्मीकि का और रूप बनाया जबकि मंच का संचालन शिवांगी सिंह एवं अंजलि उरांव ने किया। साथ ही निष्ठा मानसी अंजली सोनी ,सुमन टोप्पो, ऋषभ कुमार, शिवांग मिश्रा, पल्लवी कुमारी, रश्मि कुमारी, अंकित कुमार, राधिका कुमारीऔर सृष्टि कुमारी ने महर्षि वाल्मीकि जी की जीवनी पर विस्तार से प्रकाश डाला। इस अवसर पर अपर्णा गुप्ता, नीति झा, रामचंद्र गिरि,राहुल रंजन सिंह, शिवम कुमार, कौस्तुभ पांडे, आशीष सिन्हा विशाल शाहदेव विकास सहदेव, दशरथ प्रजापति निहारिका केसरी एस राजा , चंद्रकांता पांडे, विक्रम मिश्रा, शिवांगी पांडे आदि शिक्षक उपस्थित थे।