लोहरदगा l केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल 158 बटालियन के मुख्यालय में गुरुवार को पुलिस स्मृति दिवस का आयोजन किया गया।मौके पर सीआरपीएफ के द्वितीय कमान अधिकारी आरवी फिलिप ने जवानों को स्मृति दिवस 21 अक्टूबर के महत्व के बारे में बताते हुए का कि आज के ही दिन ही 60 वर्ष पहले 21 अक्टूबर 1959 में केरिपु बल की एक छोटी टुकडी लद्दाख के हॉट स्प्रिंग जैसे दुर्गम स्थान पर चीनी सेना द्वारा घात लगा कर हमला किया गया जिसमें केरिपु बल के रणबॉकुरो द्वारा शौर्य का असाधारण प्रदर्शन करते हुए चीनी सैनिको से लोहा लेते हुए मातृभूमि कि रक्षा के लिए अपने प्राणो की बलि दे दी गई। देश के इतिहास में यह पहला मौका था जब सीमा पर सेना नही केरिपु बल के जावान शहीद हुए । तब से 21 अक्टूबर को पुलिस स्मृति दिवस के रूप में पूरे देश में मनाया जाता हैं। मौके पर इस वर्ष शहीद हुए पुलिस जवानो को भावपूर्ण श्रधांजलि दी गई। उन्होंने कहा की जवानो को मातृभूमि की रक्षा के लिए हमेशा तत्पर रहते हुए अपने कर्तव्य को निभाने की जरूरत है। मौके पर द्वितीय कमान अधिकारी आर वी फिलिप , द्वितीय कमान अधिकारी प्रदीप कुमार सिंह, मुख्य चिकित्सा अधिकारी रंजीत कुमार, उप कमांडेंट मनोज कुमार के अलावे अन्य अधिकारी व जवान मौजूद थे।