पंचायत चुनाव में इस बार शिक्षित कर्मठ और ईमानदार युवा को गांव का प्रधान नियुक्त करेंगे ग्रामीण

साहिबगंज ( उधवा ) । त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की घोषणा के बाद से शाम हो या सुबह हर चौक चौराहे में प्रतिनिधि लोगों को अपने और आकर्षित करने में लगे हैं अपने आपको गरीब शिक्षित कर्मठ और इमानदार करने के पूरी कोशिश की जा रही है आखिर ऐसा क्यों हो रहा है दरअसल राज्य में 2020 में होने वाले पंचायती चुनाव को कोविड-19 के कारण स्थगित कर दिया गया था कोविड-19 अभी ना के बराबर है जिसको लेकर राज्य सरकार त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के प्रक्रिया पूरी कर ली है हाल ही के दिनों में ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम में प्रेस वार्ता करके कहां त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की तारीख प्रक्रिया पूर्ण कर ली गई है और विभाग की ओर से भी मतदाता सूची के साथ वार्ड सदस्य पंचायत समिति मुखिया या जिला परिषद के चुनाव चीन की भी तैयारी कर ली गई है कहां जाए तो पंचायत चुनाव के सारी प्रक्रिया पूर्ण हो चुका है अब केवल प्रतिनिधि डेट की घोषणा का इंतजार कर रहे हैं पंचायत चुनाव को लेकर प्रदेश के साथ उधवा प्रखंड के 26 पंचायत के सभी प्रतिनिधि चुनाव की तैयारी में जुट गए हैं हर चौक चौराहे पर अपने आप को गरीब किसान का बेटा शिक्षित जुझारू कर्मठ साबित करने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं हर 5 साल में पंचायत चुनाव होना तय रहता है कई प्रतिनिधि वादा करके पंचायत सेवक बनते तो है उसके बाद किए गए वादा से पीछे हटने में तनिक भी देर नहीं करता है लेकिन इस बार ग्रामीण भी पंचायत प्रतिनिधि की बुराई करने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे उधवा प्रखंड के सभी 26 पंचायत के प्रतिनिधि के द्वारा किए गए कार्य ओ डी एफ पंचायत स्ट्रीट लाइट जल मीनार पीएम आवास योजना कूप निर्माण डोभा मेड़बंदी या फिर पेंशन राशन कार्ड इत्यादि योजना से आज भी गरीब परिवार वंचित है। वही 26 पंचायत के कुछ कुछ पंचायतों में ग्रामीणों का कहना है की वोट आखिर दे तो किसे दे सभी चुनाव के समय विकास की बड़ी बड़ी बाते करते है जब चुनाव खत्म हो जाते है सारे वादे हवा हवाई हो जाते है।इस बार चुनाव में किसी ईमानदार और शिक्षित कर्मठ लोगों को गांव के प्रधान नियुक्त करेंगे।