हजारीबाग । जिला कांग्रेस कार्यालय कृष्ण बल्लभ आश्रम में संयुक्त बिहार के प्रथम मुख्यमंत्री ” बिहार केशरी ” डाॅ. श्रीकृष्ण सिंह की 134 वीं जयंती उनके चित्र पर पुष्प अर्पित तथा माल्यार्पण कर मनाई गई ।
कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए जिला अध्यक्ष अवधेश कुमार सिंह ने कहा कि आधुनिक बिहार के निर्माता डाॅ. श्रीकृष्ण सिंह स्वतंत्रता संग्राम के अग्रगण्य सेनानियों मे से रहें है । इनका संपूर्ण जीवन राष्ट्र एंव जन सेवा के लिए समर्पित था । स्वाधीनता की प्राप्ति के बाद बिहार के नवनिर्माण के लिए उन्होंने जो कुछ किया उसके लिए बिहारवासी सदा उनके ऋणी रहेंगे । उनके उदार एंव निष्कलंक चरित्र में बुद्ध की करूणा, गांधी की नैतिकता एंव सदाचार परिवेष्ठित थी ।
मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित बरही के विधायक उमाशंकर अकेला नें कहा कि डाॅ. श्रीकृष्ण सिंह में श्रेष्ठ मानवोचित गुण भरे थे । वे सतत सारस्वत साधक के अलावा स्वच्छ राजनीतिज्ञ, अनासक्त कर्मयोगी, सर्वगुण संपन्न त्यागी, तथा मानवता के महान हितैषी थे । हम सब उनके पदचिन्हों पर चल पायें तो मानव कल्याण का मार्ग निश्चित रूप से प्रशस्त होगा और यही इस उदारचेता एंव प्रज्ञा पुरूष के प्रति हमारी सच्ची श्राद्धंजलि होगी ।