लोहरदगा l उपायुक्त दिलीप कुमार टोप्पो की अध्यक्षता में शनिवार को मनरेगा, प्रधानमंत्री आवास योजना समेत योजनाओं की समीक्षा की गई। बैठक में मानव दिवस सृजन, योजनाओं की पूर्णता, योजनाओं का चयन, योजनाओं की जियो टैगिंग, दीदी बाड़ी योजना, प्रधानमंत्री योजना स्वीकृति/किश्त का भुगतान आदि बिंदुओं पर विस्तृत रूप से चर्चा की गई।
उपायुक्त द्वारा मानव दिवस सृजन में सुधार लाने के लिए अधिक से अधिक योजनाओं का चयन करने और वैसी योजनाओं का चयन करने जिसमें अधिक से अधिक लोगों को काम दिया जा सके, का चयन करने का निदेश दिया गया। उपायुक्त ने कहा कि कई क्षेत्रों से मजदूरों के पलायन की सूचनाएं प्राप्त होती हैं ऐसे में प्रखण्ड स्तर से ही लोगों को काम देने का प्रयास किया जाय ताकि पलायन रुक सके। सभी को काम मिल सके। जो योजनाएं इस मौसम में ली जा सकती हैं वैसी योजनाओं का चयन कर लोगों को जोड़ें। जाॅब कार्ड दें। रोजगार दें। अभियान चलाकर योजनाओं को प्रारंभ करायें। पंचायत सचिव को जमीनी स्तर पर काम करने की जरूरत है। मजदूरों की भागीदारी बढ़ायें।
उपायुक्त द्वारा लक्ष्य के अनुरूप योजनाओं को प्रारंभ करने और उसे पूर्ण करने का निदेश सभी प्रखण्ड विकास पदाधिकारियों, प्रखण्ड कार्यक्रम पदाधिकारी को दिया गया। सहायक अभियंता व कनीय अभियंताओं को योजनाओं को पूर्ण करने, उसकी जियो टैगिंग सुनिश्चत कराने आदि निदेश दिये गये। कार्य में लापरवाही करने वाले रोजगार सेवकों को स्पष्टीकरण देने और उनका कार्रवाई करने का निदेश दिया गया।
बैठक में शामिल सभी पदाधिकारियों को मनरेगा मोबाइल एप में एक सप्ताह में न्यूनतम पांच-पांच योजनाओं की इंट्री पूरी करने का निदेश दिया गया।
प्रधानमंत्री आवास योजनाओं के अंतर्गत वर्ष 2019-20 और 2020-21 में पूर्ण व लंबित आवासों की समीक्षा की गई। साथ वर्ष 2021-22 में स्वीकृत आवासों के लाभुकों को किश्तों का भुगतान किये जाने का निदेश दिया गया।

बैठक में उप विकास आयुक्त अखौरी शशांक सिन्हा, सभी प्रखण्ड विकास पदाधिकारी, मनरेगा परियोजना पदाधिकारी सुधीर मुर्मू, प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के जिला समन्वयक केके गुप्ता, सभी प्रखण्ड कार्यक्रम पदाधिकारी, सहायक अभियंता, कनीय अभियंता, प्रधानमंत्री आवास योजना प्रखण्ड समन्वयक आदि उपस्थित थे।