लोहरदगा । उपायुक्त द्वारा जिला कृषि पदाधिकारी को नवंबर माह में कृषि मेला का आयोजन करने का निदेश दिया गया जिसमें कृषि/गव्य/मत्स्य विभागों का केसीसी ऋण वितरण, विभिन्न विभागों द्वारा स्टाॅल लगाने जाने की तैयारी करने का निर्देश दिया गया। इसके अतिरिक्त छूटे हुए सभी प्रखण्डों में कृषि चैपाल का आयोजन करने, सरसों व गेहूं का बीज वितरण करने की प्रक्रिया पूरी करने, कृषकों के जमीन की मिट्टी की जांच कर उन्हें साॅयल हेल्थ कार्ड उपलब्ध कराने, इच्छुक किसानों को प्रधानमंत्री सिंचाई योजना के तहत टपक सिंचाई की योजना उपलब्ध कराने और बैंकों में केसीसी के आवेदन को स्वीकृत कराने का निदेश दिया गया। एटीएम व बीटीएम के रिक्त पदों को भरे जाने की प्रक्रिया 15 नवंबर से पूर्व पूरा करने का निदेश दिया गया।

जिला उद्यान पदाधिकारी को जिले में फूलों की खेती के लिए कृषि विज्ञान केंद्र, किस्को में चयनित लाभुकों को आवश्यक प्रशिक्षण उपलब्ध कराने के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम निर्धारित करने का निर्देश दिया गया।

जिला मत्स्य पदाधिकारी को जिले में अवस्थित जिंदा तालाबों का सर्वे कराने का निदेश दिया गया ताकि लोगों को मत्स्य पालन से जोड़ा जा सके। पूरे वर्ष भर पानी रहने वालों को चिन्हित करें। चिन्हित लाभुकों का मछुआ आवास पूर्ण करायें।

जिला पशुपालन पदाधिकारी को मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना का लक्ष्य जल्द प्राप्त करने का निदेश दिया गया।जिला पशुपालन पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना अंतर्गत जिला को बकरा विकास योजना में 180 यूनिट, बत्तख चूजा वितरण में 154 यूनिट और सूकर विकास योजना में 65 यूनिट के वितरण का लक्ष्य प्राप्त है। इसमें तीव्रगति से वितरण का कार्यक्रम चल रहा है।

की बैठक में जिला कृषि पदाधिकारी शिव कुमार राम, जिला पशुपालन पदाधिकारी अनुप कुमार, जिला मत्स्य पदाधिकारी अंजलि कुमारी, जिला उद्यान पदाधिकारी एमलेन पूर्ति, आत्मा परियोजना निदेशक तृप्ति तिर्कीसमेत अन्य उपस्थित थे।