हजारीबाग । जिला कांग्रेस कार्यालय कृष्ण बल्लभ आश्रम में स्वतंत्रता सेनानी तथा हजारीबाग के प्रथम सांसद सह पूर्व विधायक की 35 वीं पुण्यतिथि उनके चित्र पर पुष्प अर्पित तथा माल्यार्पण कर मनाई गई ।
कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए जिला अध्यक्ष अवधेश कुमार सिंह ने कहा कि ज्ञानी बाबु वकालत एंव खेती गृहस्थी मुख्य पेशा रहने के बाद भी इनका राजनीतिक झुकाव बना रहा । सन 1937 में जिला परिषद और नगर पालिका के सदस्य मनोनीत होने के बाद नगर पालिका के कोष वृद्धि में इन्होंने उल्लेखनीय प्रयास किया था । सन 1942 की क्रांति में जेल गए क्रांतिकारियों के परिवारों को आर्थीक सहयोग देकर इन्होंने सक्रिय योगदान किया । सन 1947 में पद से त्यागपत्र देने के बाद कांग्रेस कमिटी के महासचिव रहे ।