लोहरदगा l उपायुक्त दिलीप कुमार टोप्पो के नेतृत्व में आज नगर पर्षद क्षेत्र में “विशेष स्वच्छता अभियान” चलाया गया। इसकी शुरुआत उपायुक्त द्वारा साइडिंग स्थित बस स्टैंड से की गई। इस दौरान उप विकास आयुक्त अखौरी शशांक सिन्हा, अनुमंडल पदाधिकारी अरविंद कुमार लाल समेत अन्य पदाधिकारियों व नगर पर्षद की सफाई कर्मियों द्वारा बस स्टैंड से बलदेव साहू पेट्रोल पंप तक और फिर वापस बस स्टैंड तक सड़क में फैले कचरे की सफाई की गई और उसे डस्टबिन में डाला गया।
इसके उपरांत साइडिंग स्थित बस स्टैंड में कार्यक्रम आयोजित किया गया।

कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए उपायुक्त दिलीप कुमार टोप्पो ने कहा कि आजादी के अमृत महोत्सव के मौके पर हम हमारे देश की आजादी के नायकों को याद कर रहे हैं। इस कार्यक्रम के अंतर्गत आज जिले में विशेष स्वच्छता अभियान चलाया जा रहा है। देश की आजादी में एक अहम भूमिका निभाते हुए राष्ट्रपिता महात्मा गांधी भी स्वच्छता के पक्षधर रहे। हमें भी बापू का अनुकरण करना चाहिए। हम जहां भी रहें, अपने गांव-मोहल्लों, आस-पड़ोस को साफ रखें। अगर साफ नहीं कर सकते हैं तो गंदगी भी ना फैलाएं। इसे अभियान के रूप में एक दिन के लिए नहीं मनाएं, बल्कि स्वच्छता को रोजमर्रा के जीवन मे शामिल करें।

उपायुक्त ने कहा कि आज शहरों में गंदगी का मुख्य कारण गुटखा व पान मसालों के पैकेट,पानी के बोतल, पॉलीथिन आदि हैं जो जहाँ-तहां बिखरे मिल जाते हैं। हमें पान-मसालों और प्लास्टिक के इस्तेमाल से खुद को मुक्त करना होगा। अगर हम कचरा को डस्टबीन में डालने की आदत डालें तो गंदगी कहीं नहीं दिखेगी। हमारी मानसिकता आज भी अपने घर का कचरा दूसरों के घर के सामने फेंकने की है। हम अक्सर घर का कचरा सड़क पर भी फेंक देते हैं। हमे यह समझना होगा कि यह सड़क अपनी है, मोहल्ला अपना है, सब कुछ अपना है। हमें सड़क को भी साफ रखना है। जिस तरह हमें भोजन जरूरी है उसी तरह साफ-सफाई भी जरूरी है। हमें साफ-सफाई की आदत को अपनाने की आवश्यकता है। सियोल जैसे देश में लोग साफ-सफाई की आदत को अपनाते हैं और अपने बच्चों को भी सिखाते हैं। हमें ऐसे आदतों का अनुकरण करना होगा।
उपायुक्त ने कहा कि नगर पर्षद के सफाई कर्मी का बहुत अच्छा काम करते हैं। अगर आप शहरी क्षेत्र की साफ-सफाई नहीं करेंगे तो काफी समस्या उत्पन्न हो जाएगी। कई बीमारियां फैलेंगी।कोविड महामारी में हमलोगों ने स्वच्छ्ता का महत्व जाना। हम महामारी के कारण घर मे कैद होने को मजबूर हो गए। केन्द्र व राज्य सरकार स्वच्छता अभियान चला रही हैं। जिला प्रशासन भी इस अभियान में शामिल है, एक अंग है। आजादी का अमृत महोत्सव पूरे देश मे मनाया जा रहा है। सरकार के आह्वान पर हम इस स्वछता अभियान का हिस्सा बने हैं। हमें सिर्फ ना इसे मनाना है बल्कि यह दिखना चाहिए कि हमने स्वच्छता को अपनी आदत में शामिल कर लिया है। आपम लोग अपने घरों, मोहल्लों, आस पास के क्षेत्र को साफ रखें, यह सिर्फ सफाई कर्मियों का काम नहीं। गंदगी ना फैलाएं। साफ-सफाई से हमारे जिला, राज्य और देश का नाम रौशन होगा।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उप विकास आयुक्त, लोहरदगा ने कहा कि नगर पर्षद द्वारा आयोजित यह कार्यक्रम प्रशंसनीय है। नगर पर्षद की ओर से कोविड के शुरुआती समय में सैनीटाइजेशन, कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग का कार्य किया गया जिससे कोविड पर नियंत्रण पाने में आसानी हुई। लोगों को जागरूक करने के लिए यह अभियान चलाया है। विदेश में गंदगी नहीं है, लोग पॉलीथिन का इस्तेमाल नहीं करते हैं। आइए हम सभी मिलकर गंदगी हटाएं, भारत को स्वच्छ बनाएं।

कार्यक्रम में अनुमंडल पदाधिकारी, लोहरदगा ने कहा कि सभी दुकानदार अपने दुकान के आसपास के क्षेत्र को स्वच्छ रखें। इसके कचरा प्रबंधन के लिए डस्टबीन अवश्य रखें। ऐसी शिकायत आ रही है कि शहर क्षेत्र में अभी दुकानों में प्रतिबंधित पान-मसालों की बिक्री की जा रही है। ऐसे दुकानदारों को सख्त चेतावनी दी जाती है कि अगर प्रतिबंधित पान-मसालों की बिक्री करते हुए पकड़े जाते हैं तो सख्त से सख्त कार्रवाई होगी। क्योंकि यह पान मसाला जानलेवा है। कैंसर का मुख्य कारण है। इसके अलावा आम लोग जब बाजार में सब्जी खरीदने जाएं तो सिंगल यूज वाले पॉलीथिन का इस्तेमाल करने से बचें। शहर में नाली जाम होने की मुख्य वजह नालियों में प्लास्टिक का जमा होना है। नाली जाम होने से मच्छर पनपता है। मलेरिया, डेंगू जैसी बीमारियां फैलती हैं।

आयोजित कार्यक्रम में नगर पर्षद कार्यपालक पदाधिकारी देवेंद्र कुमार, कार्ययपालक दंडाधिकारी नारायण राम, अमित बेसरा, नगर प्रबंधक विजय कुमार, प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) जिला समन्वयक केके गुप्ता, सहायक जनसंपर्क पदाधिकारी आशीष कुमार के अतिरिक्त बड़ी संख्या में सखी मंडल की सदस्य व सफाईकर्मी उपस्थित थे

अभियान ग्रामीण क्षेत्रों में प्रखण्ड विकास पदाधिकारी/अंचल अधिकारी, पंचायत क्षेत्रों में जिला पंचायत राज पदाधिकारी एवं जिला परिषद क्षेत्र में उप विकास आयुक्त, लोहरदगा के नेतृत्व में चलाया गया।