चतरा ( पत्थलगड्डा ) । सरकार भले ही सच्चाई छुपाने के लिए लाख कोशिश कर ले,पर सच्चाई कभी छुपती नहीं है।ऐसे ही एक मामला है पत्थलगड़ा प्रखण्ड के सिंघानी का मामला सामने आया है। पत्थलगड़ा के सिंघानी गांव में बाल- बाल एक परिवार बच गया।बताते चलें कि सिंघानी निवासी मालती देवी ,पति रामप्रवेश राम अपने पूरे परिवार के साथ पिछले रात में सो रहे थे, कि अचानक उनका मकान का दीवाल में दरारें पड़ गए और फिर कुछ ही देर में रात को घर से निकलने के बाद घर पूरी तरह से ढह गया। अखिलेश कुमार ने बताया कि बारिश के वजह से घर में पानी घुस गया,और दिवार क्षतिग्रस्त हो गया,जिसके कारण घर के मुख्य द्वार के दरवाजे भी बंद हो गए। यहाँ तक कि राशन तक घर से निकालना मुश्किल हो गया।और फिर क्या आज तक दूसरे के यहाँ शरण लेना पड़ गया है।आखिर सरकार ऐसे लोगों को पक्का मकान नहीं देगी तो फिर किसे देगी। ग्रामीणों का कहना है कि यहाँ जनप्रतिनिधियों का कोई ध्यान नहीं है,जिसके कारण आज तक कई लोगों को अब भी पक्का मकान नहीं मिल पाया है।।