साहिबगंज।समाहरणालय स्थित सभागार में बुधवार को उपायुक्त रामनिवास यादव की अध्यक्षता में श्रम पोर्टल पर जिले में असंगठित श्रमिकों के निबंधन हेतु क्रियान्वयन समिति की बैठक आयोजित की गई।बैठक के दौरान बताया गया कि साहिबगंज जिले में 9422 श्रमिकों का रजिस्ट्रेशन सीएससी के माध्यम से किया गया है। वहीं 4166 लोगों ने स्वयं श्रम पोर्टल www.esharam.gov.in पोर्टल पर जाकर स्वयं को रजिस्टर किया है, तथा जिले में कुल 98588 असंगठित श्रमिकों का अभी तक निबंधन किया जा चुका है।
वहीं साहिबगंज जिला राज्य भर में दिए गए लक्ष्य के अनुरूप सबसे अधिक श्रमिकों का निबंधन करने में द्वितीय स्थान पर है।बैठक के दौरान उपायुक्त रामनिवास यादव ने सीएस सीएससी मैनेजर से अभी तक हुए असंगठित श्रमिकों की निबंधन से संबंधित आवश्यक जानकारी लेते हुए उन्हें फील्ड में रहने के साथ-साथ सभी प्रज्ञा केंद्रों पर नजर बनाए रखते हुए ज्यादा से ज्यादा श्रमिकों का निबंधन कराने का निर्देश दिया।उन्होंने कहा कि सीएससी मैनेजर प्रज्ञा केंद्र संचालकों से पारदर्शिता बनाए रखने एवं अपनी जिम्मेदारी समझते हुए कर्तव्यों का निर्वहन करना सुनिश्चित कराएंगे।इस बीच उपायुक्त श्री यादव ने सभी प्रखंड विकास पदाधिकारियों से कहा कि उनके प्रखंड में कार्यरत सभी अनुबंध कर्मियों का निबंधन कराना संबंधित पोर्टल पर निबंधन कराना सुनिश्चित कराएंगे। इसके अलावा सभी सेविका, सहिया, वरीय पदाधिकारी जिनके विभाग में अनुबंध कर्मी है वह उन सभी कर्मियों का निबंधन पोर्टल पर कराना एवं संबंधित कार्यपालक अभियंताओं से मजदूरों का निबंधन कराना और स्वयंसेवी संगठन की महिलाएं आदि भी भी निश्चित रूप से निबंधन कराना सुनिश्चित कराएंगे।

■स्वयं ऑनलाइन भी कर सकते पंजीकरण –

ई. श्रम कार्ड ऑनलाइन अप्लाई करने के लिए आपके पास (आधार नंबर, बैंक खाते की जानकारी एवं मोबाईल नंबर (जो आधार से लिंक हो) होना चाहिए।

सबसे पहले भारत सरकार के श्रम और रोजगार मंत्रालय की आधिकारिक वेबसाइट eshram.gov.in पर जाना पड़ेगा। थोड़ा नीचे की ओर जाने पर आपको ई.श्रम पंजीकरण का आप्शन दिखाई देगा।
इस रजिस्ट्रेशन या पंजीकरण ऑप्शन पर क्लिक करने पर आपको ई.श्रम रजिस्ट्रेशन फॉर्म दिखाई देगा।इस पेज पर मांगी गई जानकारियों को भरने के बाद आपको सेंड ओटीपी पर क्लिक करना है। जिसके बाद आपको आपके मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी मिलेगा, उस ओटीपी को डालने के बाद आपको सब्मिट ऑप्शन पर क्लिक करना है।

उसके बाद आपके सामने एक और पेज खुलेगा जिस पर आपको अपना आधार नंबर डालना है और सब्मिट आप्शन पर क्लिक करना है।उसके बाद एक बार फिर आपको एक नया ओटीपी आपके मोबाइल पर मिलेगा जिसे डालने के बाद आपको वैलिडेट ऑप्शन पर क्लिक करना है। इसके पश्चात आपको एक और नया पेज खुलेगा जिसमें आपको अपनी निजी जानकारी प्रदान करनी होगी जैसे - इमरजेंसी मोबाइल नंबर, विवाहित है या अविवाहित, आपके पिता का नाम, आप किस जाति के है, आप का रक्त समूह क्या है आदि। 

यदि आप किसी को नामांकित (नोमनी) बनाना चाहते हैं तो उसकी जानकारी भी अगले पेज पर दे सकते है। 

उसके बाद अगला पेज खुलेगा जिसमें आपको घर का पता और संबंधित जानकारी देना होगा। 

अब अगले पेज पर आपको शैक्षणिक योग्यता बताना होगा । 
आप किस प्रकार का व्यवसाय या काम कर रहे इसकी भी जानकारी अगले पृष्ठ पर देना होगा। इसके लिए सरकार द्वारा एक सूची भी उपलब्ध है जिसमें से आप अपने लिए उपयुक्त आप्शन को चुन सकते है।

अगले पृष्ठ पर आपको बैंक डिटेल और आदि जानकारी प्रदान करना होगा। 

अंततः सारी जानकारी को एक बार जाँचने के बाद आपको सब्मिट ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।

उसके बाद आपको अपना ई. श्रम कार्ड दिखने लगेगा अब आपको डाऊनलोड आप्शन पर क्लिक करना है जिससे आपका ई. श्रम कार्ड डाउनलोड हो जाएगा जिसे प्रिंट लेकर आगे योजनाओं का लाभ लेने के लिए सुरक्षित रख लेना होगा।

■ निबंधन से लाभ-

◆ झारखंड असंगठित कर्मकार मृत्यु/ दुर्घटना सहायता योजना :-

निबंधित लाभुक (आयु वर्ग 18-59 वर्ष) की सामान्य मृत्यु हो जाने पर आश्रित को 50,000 रु० व दुर्घटना में मृत्यु हो जाने पर 1,00,000 रु० की सहायता।

◆अंत्येष्टि सहायता योजना :-

सामान्य मृत्यु में (60 वर्ष की आयु तक) 15,000 रु० एवं कार्य के दौरान दुर्घटना में मृत्यु होने पर 25,000 रु० मृतक के आश्रित को सहायता।

◆ चिकित्सा सहायता योजना :-

निबंधित महिला असंगठित कर्मकारों के प्रथम दो प्रसूतियों के लिए प्रति प्रसूति एकमुश्त 15,000 रु० का भुगतान।

◆ असंगठित कर्मकारों के बच्चों के लिए मुख्यमंत्री छात्रवृत्ति योजना :-

निबंधित असंगठित कर्मकारों के अधिकतम दो बच्चों के लिए कक्षावार छात्रवृत्ति की राशि-

  1. कक्षा 1वीं से 4वीं तक वार्षिक छात्रवृत्ति में छात्र एवं छात्रा को 250 रु० प्रति विद्यार्थी।
  2. कक्षा 5वीं से 8वीं तक वार्षिक छात्रवृत्ति में छात्र को 500 रु० तथा छात्रा को 950 रु०।
  3. कक्षा 9वीं के छात्र को 700 रु० तथा छात्रा को 1100 रु०।
  4. कक्षा 10वीं के छात्र को 1400 रु० तथा छात्रा को 1800 रु०।
  5. कक्षा 11वीं से 12वीं तक के छात्र को 3000 रु० तथा छात्रा को 3400 रु०।
  6. उच्च शिक्षा गैर तकनीकी एवं गैर व्यावसायिक पाठ्यक्रम के लिए छात्र को 4000 रु० तथा छात्रा को 4000 रु०।
  7. इंजीनियरिंग तथा मेडिकल में अध्ययनरत छात्र को 8000 रु० तथा छात्रा 8000 रु०।

बैठक के दौरान उपायुक्त के अलावे जिला शिक्षा पदाधिकारी मिथिलेश, झा,श्रम अधीक्षक रंजीत कुमार, विभिन्न विभागों के वरीय पदाधिकारी गण, सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी, कार्यपालक पदाधिकारी साहिबगंज, श्रम विभाग के कर्मी सीएससी मैनेजर एवं अन्य उपस्थित थे।