हजारीबाग। आईसेक्ट विश्वविद्यालय, हजारीबाग की ओर से बीते 26 अक्टूबर से जारी सतर्कता जागरूकता सप्ताह के चौथे दिन शुक्रवार को भ्रष्टाचार मिटाने को लेकर नुक्कड़ नाटक का आयोजन किया गया। विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों ने मटवारी स्थित गांधी मैदान, जिला स्कूल के समीप, झील के समीप और इंद्रपुरी चौक के समीप नुक्कड़ नाटक कर भ्रष्टाचार के खिलाफ लोगों को आवाज बुलंद करने के लिए जागरूक किया। आम लोगों में जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से किए गए इस नुक्कड़ नाटक को मौजूद लोगों ने काफी सराहा और कहा कि ऐसे कार्यक्रम शिक्षण संस्थानों के साथ-साथ विभिन्न संस्थानों की ओर से भी कराए जाने की जरूरत है ताकि लोग जागरूक हो सके और नागरिकता के कर्तव्य को समझते हुए बेहतर भारत के निर्माण में मददगार साबित हों। विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ मुनीष गोविंद ने इस बाबत कहा कि सतर्कता जागरूकता सप्ताह हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी बीते 26 अक्टूबर से आगामी 1 नवंबर तक मनाया जा रहा है, जिसमें विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों व एनएसएस इकाई के सहयोग से नुक्कड़ नाटक के जरिए लोगों में जागरूकता फैलाने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने ऐसे कोशिशों को अहम बताया और कहा कि ऐसे ही प्रयास से धीरे-धीरे ही सही लेकिन समाज जागरूक होगा और उसे बेहतर दिशा मिलेगी। वहीं इस पूरे कार्यक्रम को नेतृत्व कर रही डॉ रोजीकांत में कहा कि शहर के साथ-साथ सुदूरवर्ती इलाकों में भी ऐसे कार्यक्रम किए जाने की योजना है ताकि भ्रष्टाचार के खिलाफ लोग जागरूक हों। साथ ही खुद भी ईमानदार रहें और दूसरों को भी ईमानदार रहने के लिए प्रेरित करें ताकि भारत के विश्व गुरु बनने के सपने को साकार किया जा सके। कार्यक्रम को सफल बनाने में पर्फार्मिंग आर्ट्स के डीन डॉ रोज़ीकांत, कला एवं मानविकी विभाग डीन डॉ रूद्र नारायण, प्राध्यापक रोहित कुमार, प्राध्यापिका रीदम सिन्हा, उमा कुमारी, पीआरओ शमीम अहमद, राजेश कुमार, कैलाश कुमार समेत कई की भूमिका अहम रही।