लोहरदगा । अनुमंडल कार्यालय लोहरदगा परिसर में एक सही भोजन वेहतर जीवन लोहरदगा से सम्बन्धित व अनुज्ञप्ति/ निबंधन मेगा सह – सलाह केंद्र का आयोजन किया गया। जिसमें अनुमंडल पदाधिकारी अरविंद कुमार लाल ने उपस्थित स्ट्रीट भेंडर, मध्यान्ह भोजन बनाने वाली माता समिति, सेविका आदि को संबोधित करते हुए कहा कि स्ट्रीट वेंडर वाले जिनका वार्षिक टर्नओवर 12 लाख रुपए से अधिक है वह अनुज्ञप्ति प्राप्त कर ले। जिनका 12 लाख से कम टर्नओवर है वह सिर्फ ₹100 जमा कर निबंधन प्राप्त करें। आज निबंधन कराने पर निशुल्क होगा। अनुमंडल पदाधिकारी ने खाद्य पदार्थों के मिलावट उनकी शुद्धता एवं बिक्री की सावधानियों से संबंधित जानकारी दी।
हर दिन हो सही भोजन, ध्यान रखे यह बात जन-जन

      सही भोजन, बेहतर जीवन

बेहतर खायेंगे, बेहतर खिलाएंगे, ईट राईट चैलेंज में लोहरदगा को सर्वश्रेष्ठ बनाएंगे

उपभोक्ताओं कृपया ध्यान दे,

• खाद्य सुरक्षा और मानक अधिनियम 2006 के अंतर्गत एफएसएसएआई लाइसेंस/रजिस्ट्रेशन प्राप्त दुकानों से ही खाद पदार्थों का क्रय करें।
• खुले में रखे गए खाद्य पदार्थों को कभी ना खरीदें जिस पर धूल पढ़ रही हो मक्खियों आदि से दूषित हो।
• कोई भी खाद पदार्थ छपे कागज जैसे अखबार प्रिंटेड पेपर आदि पर कभी ना रखे वह कभी ना खाए।
• शीतल पेय, अन्न व अन्य पैक्ड खाद्य पदार्थ पर पैकिंग तिथि व बेस्ट बिफोर तिथि, निर्माण का नाम व पता, बैच नम्बर, FSSAI लाईसेंस / रजिस्ट्रेशन संख्या आदि अवश्य देख कर ही खरीदें।
• सरसों का तेल, वनस्पति, रिफाईन्ड तेल कभी भी खुली अवस्था में न खरीदें।

•पिसे मसाले कभी भी खुली अवस्था में न खरीदें।
• कटे-फटे, सड़े-गले फल एवं सब्जियों का क्रय न करें।

•खाद्य पदार्थ खाने एवं बनाने से पहले अपने हाथों का सफाई करना न भूलें।

•Fortified (+F) खाद्य पदार्थों में विटामिन, मिनिरलस एवं न्यूट्रियेन्टस मिले होते है। अतः Fortified (+F) खाद्य पदार्थों का उपयोग ज्यादा से ज्यादा करें।

• खाने में, नियमित रूप से थोडा कम तेल, चीनी और नमक का इस्तेमाल करें। मोटापा, उच्च रक्तचाप, मधुमेह और दिल की बीमारियाँ जैसे परेशानियों से बचें।

•खाद्य पदार्थों में खराबी की शिकायत अभिहित अधिकारी – सह- अनुमण्डल पदाधिकारी, लोहरदगा के कार्यालय (खाद्य सुरक्षा शाखा) में कर सकते है।

खाद्य कारोबारकर्ता ध्यान दें।
● खाद्य व्यवसाय के लिए खाद्य लाईसेन्स / रजिस्ट्रेशन अवश्य करावें । बिना खाद्य लाईसेंस / रजिस्ट्रेशन के किसी भी प्रकार के खाद्य पदार्थ बेचना / भण्डारण करना / परिवहन करना दण्डनीय अपराध है एवं इसका उल्लंघन करने पर छः माह का कारावास एवं 05 लाख तक का जुर्माना लगाया जा सकता है।

• खाद्य लाईसेस / रजिस्ट्रेशन से संबंधित अधिक जानकारी अभिहित अधिकारी सह अनुमण्डल पदाधिकारी, गुमला के कार्यालय (खाद्य सुरक्षा शाखा) से प्राप्त किया जा सकता है। •खाद्य निर्माण के लिए कच्ची सामग्री लाईसेंसी दुकानदार से ही क्रय करें एवं उसकी वारण्टी / बिल अवश्य प्राप्त करें।
• खाद्य कारोबारकर्ता अपने प्रतिष्ठान एवं व्यक्तिगत सफाई का विशेष ध्यान दें।
• पक्के खाद्य पदार्थ को खुला न रखें। हमेशा खाद्य पदार्थों को जाली अथवा मारकीन कपड़े से ढक कर रखें।
• बासी / दूषित खाद्य पदार्थ न बेंचे।
•चाय विक्रेता चाय की पत्ती का एकबार से ज्यादा प्रयोग न करें एवं बर्त्तन को साफ करते रहें।
•खाद्य पदार्थ बनाने के लिए खाद्य तेल (जले हुए तेल) को दो बार से अधिक इस्तेमाल न करें।
• जूस विक्रेता अनार, मौसमी आदि फल पहले काट / छीलकर न रखें।
•जूस में किसी भी प्रकार का रंग एवं सैंक्रीन का प्रयोग पूर्णतः प्रतिबंधित है।
•फल विक्रेता फलों को पकाने के लिए कैल्सियम कारबाईड नामक रासायनिक का प्रयोग न करें, चूँकि इस रासायनिक पदार्थ के इस्तेमाल से कैंसर एवं विभिन्न प्रकार के गंभीर बिमारी होने की संभावना होती है। फलों को पकाने हेतु Ethylene gas / Ripening chamber का ही प्रयोग करें।
•अखबार के कागज का प्रयोग खाद्य सामग्री को रखकर बेचने व ढकने में कदापि न करें। गर्म खाद्य पदार्थ जैसे समोसे, पकौड़े, दुसका, आलू चाप आदि को हमेशा सादे पेपर में ही रखकर बेचें।
• खाद्य पदार्थों में खाद्य रंगों का ही प्रयोग सीमित मात्रा में करें। अखाद्य रंगों के प्रयोग से परहेज करें।
• कोई भी संक्रामक रोग से ग्रसित व्यक्ति किसी भी प्रकार के खाद्य कारोबार में सम्मिलित न हो।
• प्रत्येक खाद्य प्रतिष्ठान पर ढक्कन युक्त कुड़ेदान का ही प्रयोग किया जाए।
•01 अक्टूबर 2021 से सभी खाद्य कारोबारियों को अपने Bill Book / Receipt में FSSAI खाद्य लाईसेंस / रजिस्ट्रेशन संख्या दर्शाना अनिवार्य किया गया है। उपरोक्त का उल्लंघन कांनूनी रूप से दण्डनीय है। ऐसा पाये जाने पर विधि सम्मत कार्रवाई की जायेगी।