लोहरदगा l दिनाँक 31/10/2021 दिन रविवार को लोहरदगा के पेशरार प्रखंड मुख्यालय में बारह पड़हा का बैठक,बारह पड़हा के देवान रामदेव की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई।इस बैठक में मुख्य रूप से जिला राजी पड़हा समिति लोहरदगा के बेल लक्ष्मीनारायण भगत उपस्थित हुए। बैठक को सम्बोधित करते हुए लक्ष्मीनारायण भगत ने कहा कि कुछ लोग अपने व्यक्तिगत लाभ के लिए आदिवासी समाज को छिन्न-भिन्न करके अपने उल्लू सीधा करने का पुरजोर प्रयास में लगे हुए थे और आज कुछ राजनीतिक क्षेत्र के लोग अपने उल्लू सीधा नही होते देख ,जिला राजी पड़हा को समाप्त करने की कुचक्र षडयंत्र रचने का कार्य कर रहें हैं।भगत ने अपने वक्तव्य में कहा कि आज आदिवासी समाज मे बहुत जोर से दूसरे समाज के द्वारा धर्मान्तरण कर के आदिवासियत को समाप्त करने का प्रयास किया जा रहा है और इसमें हमारे समाज के कुछ लोग चर्च के साथ मिल कर, उन धर्मांतरण करने वालो की सहायता कर रहें हैं जिसको हम सबको समझने और उससे लड़ने की आवश्यकता है।आज धर्मान्तरण को रोकने में आदिवासियों की अन्य कोई भी संगठन अपने ऊपर जिम्मेवारी नही लेना चाहते है जिससे धर्मान्तरण होने की दिशा में जबरदस्त बृद्धि हुई है, इसको रोकने के लिए पड़हा,लोगों को प्रेरित करने का प्रयास करती रही है और इस पर अंकुश लगाने में पड़हा भी खुद लगे हुए हैं। आज आदिवासी युवकों को नशा-पान से दूर रहने की जरूरत एवं शिक्षा के क्षेत्र में विजस करने की जरूरत है जिससे हमारा समाज को मजबूत किया ज सजें।
पड़हा देवान धाना उरांव ने बैठक में उपस्थित सभी समाज के लोगों को धन्यवाद दिया एवं बैठक की सम्पति की घोषणा की।
इस बैठक में निम्नलिखित लोग उपस्थित रहें बाबूलाल उराँव, चुगलु उरांव, सुखनाथ उरांव, सोमा बिरेजिया,नारायण महतो,एतो पहान,रोपना उराँव,बुधराम उराँव इत्यादि समाज के सामाजिक एवं बुध्दिजीवी भी इस बैठक में उपस्थित रहें