पाकुड़। धनतेरस पर दुकानदारों व व्यापारियों की खूब रही , चेहरे चेहरे पर मधुमुस्का रही। धनतेरस को लेकर बाजार में सुबह से ही रौनक बढ़ गई है। हर क्षेत्र में साइकिल से लेकर मोटरसाइकिल एवं कबाड़ी से लेकर अलमारी तक की दुकानों में गुलजार है। व्यापारियों की तो चांदी ही चांदी है । सोने चांदी की दुकानों में भी कोई काम भीड़ नहीं है ।जब देखो तब सड़क जाम । यूं कहें सड़क जाम का सिलसिला आए दिन लगा रहता है ।किंतु धनतेरस पर दुकानों में भीड़ व सड़क जाम का कुछ खास महत्व है ।लगता है पिछले 2 वर्षों का सारा रिकॉर्ड टूटने वाला है। दो पहिया तीन पहिया वाहन भी खूब बिके। सोने समान चांदी के गहने हो या जेवर या चांदी के सिक्के ,स्टील अलमीरा हो या फर्नीचर , स्थिति यह रही कि भगत पाड़ा में तो 2 साड़ी में एक साड़ी मुक्त हो गई। कंपटीशन की बाजार मैं सब लोग एक-दूसरे को पीछे छोड़ने में जुट गए हैं। इलेक्ट्रिक दुकानों में तो कहिए मत एलईडी स्मार्टफोन लैपटॉप भी मज़े में। कांसा का समान हो या स्टील का या फिर पूजा का बर्तन इस बार लोगों ने तांबे के बर्तन की भी खरीदारी खूब की । तो दूसरी और लक्ष्मी गणेश की मूर्ति खरीदारी में भी लोग पीछे नहीं रहे ।मिट्टी के दिए कि खूब बिके । मिष्ठान की दुकान भी अपने-अपने ड्यूटी पर डटे रहे। इधर लड्डू की बाजार भी खूब रहे ।बाजार में हाटपाड़ा मोड़ पर विशेष लड्डू बेचे जा रहे हैं। चारों ओर बाजार सज धज कर तैयार है । यो कहे की पूरे शहर धनतेरस के अवसर पर रंग-बिरंगे ब्लपो से दुल्हन की तरह सज गए हैं ।