चाईबासा ( तांतनगर ) । एलीफेंट कोरिडोर में स्थित अंगरडीहा के आसपास के क्षेत्र में जंगली हाथियों का उत्पात जारी है। करीब 35-40 की संख्या में जंगली हाथी शाम ढलते ही पहाड़ से उतारकर आंगरडीहा, जावबेड़ा, तेंतड़ा, पुरचियासाई, कदलबेड़ा, पोड़ाडीहा, चिमीसाई, सुरलु, गाजिया, दासकनबासा आदि गांव के विभिन्न क्षेत्रों में विचरण करते हैं। इस दौरान कई लोगों के खेत में लगी धान की फसलों को कुचलकर तहस-नहस कर दे रहे हैं। जंगली हाथियों के उत्पात से ग्रामीण काफी परेशान और भयभीत है। जंगली हाथियों का झुंड अलग-अलग दल बनाकर विचरण करने के कारण ग्रामीण काफी असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। वन विभाग को कई बार इसकी सूचना दी जा चुकी है। लेकिन विभाग की ओर से अब तक कोई पहल नहीं की जा रही है। इस क्षेत्र के लोग अपनी जान जोखिम में डालकर रातजगा कर रखवाली करने को विवश है। विभाग की ओर से सहयोग किया जा रहा है। इसे लेकर क्षेत्र के ग्रामीणों में आक्रोश बढ़ता जा रहा है। रविवार की रात गंजिया के बाईसाई के आसपास खेतों में लगी धान को कुचलकर तहस-नहस कर दिया। हाथियों को भगाने के दौरान एक व्यक्ति बाल-बाल बच गया। सोमवार को गाजिया के कुछ ग्रामीण कांग्रेस नेता आकाश पुरती के यहां मदद की गुहार लगाने पहुंच गए। आकाश पूर्ति ने इनलोगों को लेकर वन विभाग पहुंच गये। वहां मदद की गुहार लगाई गई। लेकिन वन विभाग से लोग सिर्फ पटाखा उपलब्ध कराए। जबकि इन लोगों को टॉर्च की सख्त जरूरत है। विभाग ने टॉर्च उपलब्ध कराने में असमर्थ जताई तो कांग्रेस नेता आकाश पूर्ति ने स्वयं के पैसे से टॉर्च खरीद कर ग्रामीणों को उपलब्ध कराया। मौके पर गंजिया बाईसाई से सीताराम आल्डा, नारायण आल्डा समेत अन्य मौजूद थे।