बरही। मत्स्य विभाग की ओर से सोमवार को बेन्दगी पंचायत के नीचे टोला में 12 लाख मछली का जीरा छोड़ा गया। मौके पर अंचलाधिकारी सह बीडीओ अरविंद देवाशीष टोप्पो, उपप्रमुख सिकंदर राणा, मत्स्य विभाग के विधायक प्रतिनिधि रंजीत निषाद, मत्स्य विभाग के पर्यवेक्षक राजकुमार तुरी और मत्स्य पालक मौजूद थे। विभाग के विधायक प्रतिनिधि रंजीत निषाद ने बताया कि मछली से जुड़े किसानों को सरकार कई सुविधाएं मुहैया करा रही है। बिज उत्पादन के लिए 90 फीसदी सब्सिडी दी जा रही है। सीओ अरविंद देवाशीष टोप्पो ने कहा कि मछली उत्पादन के मामले में आत्मनिर्भर बनने की दिशा में बरही अपना कदम आगे बढ़ा चुका है। सरकार भी मत्स्य पलकों को इसका उत्पादन करने को लेकर प्रोत्साहित व प्रशिक्षित कर रही है। उन्होंने कहा कि आज न सिर्फ पुरुष बल्कि महिलाएं भी इस दिशा में बेहतर काम कर रही है। उपप्रमुख सिकंदर राणा ने कहा कि कुछ वर्षों में मछली पालन के क्षेत्र में बरही ने एक नया मुकाम हासिल किया है, इससे न केवल मछली पालन से पहले से जुड़े लोगों को फायदा हो रहा है, बल्कि नए लोग भी मछली पालन के व्यवसाय से जुड़ रहे हैं। मौके पर मनोज साव, सहदेव यादव, अजित निषाद, रंजीत निषाद, दिनेश कुमार, सरयू यादव, पोलो मियां, महेंद्र उरांव, मनोज साव, इरशाद मियां, प्रदीप निषाद, अशोक निषाद, कुंदन निषाद, गणेश निषाद, महेंद्र उरांव सहित अन्य लोग मौजूद थे।