हजारीबाग। नेशनल एजीबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट का रिजल्ट जारी कर दिया गया है । परीक्षा में जिले के कई मेधावी ने अपना परचम लहराया है। होनाहारो की नीट में चयन होने से कई घरों में खुशियों का माहौल है । खास बात यह है कि इनमें से कोई मस्जिद का इमाम का बेटा है , तो कोई किसान का घर से निकला और किसी ने आर्थिक तंगी को मात देकर सफलता पाई इन बच्चों ने ना सिर्फ अपनों का बल्कि पास पड़ोस और क्षेत्र का भी गर्व करने की वजह दी है । जिले के पगमल स्थित मोती मस्जिद के इमाम अब्दुल समद के पुत्र मो असजद नेट क्वालीफाई कर अपने पिता का सपनों को साकार किया है। असजद को एक्सीलेंस स्टडी सर्किल में सादे समारोह में असजद एवं उनके पिता अब्दुल समद को छात्रों के बीच सम्मानित किया ।अब्दुल समद ने कहा कि एक्सीलेंस स्टडी सर्कल का मै हमेशा कायल रहूंगा इस संस्थान ने मेरे पुत्र का रास्ता दिखाया है। वही संस्थान के निदेशक डॉक्टर जीशान खान ने कहा कि दृढ़ निश्चय एवं कठिन परिश्रम से कोई भी सफलता हासिल की जा सकती है । जिसका उदाहरण असजद है,संस्थान के चेयरमैन नमूद आलम खान ने बधाई देते हुए कहा कि ऐसे होनहार बच्चों को हर माता-पिता को नाज होता है ।और इस संस्थान में इस छात्र के 1 वर्ष का मेडिकल का खर्च उठाया है कार्यक्रम में छात्रों के साथ साथ, शिक्षक कामरान खान, विवेक उपाध्याय, शशांक शेखर, इमरान नाजिश, कात्यान कौशिक मौजूद थे।