लोहरदगा l दीपों का पर्व दीपावली की खुशियां मनाने के लिए हर आमो-खास जुटा हुआ है। वैसे तो इस वर्ष धनतेरस पर ही लोगों ने एक साथ धनतेरस और दीपावली की खरीदारी पूरी कर ली। लेकिन बुधवार को लोहरदगा में दीपावली का बाजार देखने लायक था। नगर पालिका के किनारे फुटपाथ पर बाजार लगा हुआ था। एक ओर परंपरागत मिट्टी का दिया, खिलौना और रुई की बाती का बाजार सजा हुआ था, वहीं दूसरी और मोमबत्ती और चाइनीज लाइट की जगमगाहट बाजार की चमक बढ़ा रही थी। वहीं बाजार में जगह-जगह घरौंदा की जमकर बिक्री हो रही थी। दूसरी ओर, गणेश-लक्ष्मी की विभिन्न रंग- रुपों वाली मूर्तियां खूब बिक रही है। हालांकि सभी चीजों की कीमतें चढ़ी हुई थी। लेकिन ग्राहकों ने कीमत की परवाह किए बिना ही जमकर खरीदारी की। दीवाली पर बिकने वाले रंग- बिरंगे टूनी लाइट पर अब पूरी तरह से चायनीज लाइट ने कब्जा जमा लिया है। बाजार में अब कहीं भी भारतीय लाइट नहीं दिखता। रंग- बिरंगे होने के साथ ही काफी सस्ता होने के कारण चाइनीज लाइट गरीबों की जेब में भी घुस जा रहा है। भले ही देश में महंगाई बढ़ी है लेकिन व्यवसायियों की मानें तो पिछले वर्ष की तुलना में चाइनीज लाइटों की कीमत में कमी आयी है।