उपायुक्त अध्यक्षता में चाइल्डलाईन एडवाइजरी बोर्ड की त्रैमासिक बैठक हुई

लोहरदगा । उपायुक्त डॉ वाघमारे प्रसाद कृष्ण की अध्यक्षता में गुरूवार को जिला बाल संरक्षण समिति-सह-जिला चाइल्डलाईन एडवाइजरी बोर्ड की त्रैमासिक बैठक समाहरणालय सभागार में आयोजित हुई।

बैठक में सर्वप्रथम पॉवर प्वाइंट प्रजेंटेशन के माध्यम से लोहरदगा जिला में चाइल्डलाईन लोहरदगा के कार्यों को प्रस्तुत किया गया।
उपायुक्त द्वारा जिला बाल संरक्षण पदाधिकारी को निदेश दिया गया कि वैसी बच्चियां जिनके माता-पिता नहीं हैं या जिनके एक अभिभावक हैं, दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्र से हैं उनका नामांकन कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय में कराये जाने हेतु वर्ष के नवंबर माह तक अवश्य भेज दें। इसी प्रकार बालकों का नामांकन हिरही स्थित नेताजी सुभाष चंद्र बोस आवासीय विद्यालय में कराने हेतु नवंबर माह तक बच्चों की सूची भेज दें।

जिला शिक्षा अधीक्षक को निदेश दिया गया कि लोहरदगा सदर प्रखण्ड में आवासीय विद्यालय निर्माण हेतु एक प्रस्ताव शिक्षा विभाग के पास भेजें। भूमि सुधार उप समाहर्ता इस आवासीय विद्यालय के निर्माण हेतु भूमि चिन्हित कर दें।

पुनर्वासित मजदूरों को कुशल बनाकर क्रेडिट लिंकेज कराएं, श्रम विभाग की योजनाओं का प्रचार-प्रसार करायें

श्रम अधीक्षक को निदेश दिया गया कि पुनर्वासित मजदूरों को प्रशिक्षण देकर कुशल बनायें और उन्हें क्रेडिट लिंकेज कराएं। उसके पुनर्वास के लिए कार्य करें। लोगों को श्रम विभाग के योजनाओं की जानकारी नहीं है, उन तक श्रम विभाग की योजनाओं की जानकारी प्रचार-प्रसार कर पहुंचायें। अगर लोग कुशल बनेंगे तो पलायन में कमी आयेगी। बाल कल्याण समिति भी ऐसे बच्चों के माता-पिता के लिए सोचें जो अपनी जीविकोपार्जन के लिए पलायन कर जाते हैं। जिला प्रशासन कुशल श्रमिकों को आर्थिक सहायता उपलब्ध करायेगी। अन्य विभागों से भी मिलनेवाली सुविधाएं उन्हें दी जायेंगी। इसी प्रकार अगर कोई अकेली महिला है तो उसे महिला स्वयं सहायता समूह से जोड़ें।

ग्राम स्तर पर बाल कल्याण समिति को सुदृढ़ किये जाने हेतु मुखिया और प्रखण्ड स्तर पर प्रमुख एवं प्रखण्ड विकास पदाधिकारी को पत्र लिखें और समिति को सक्रिय करें।

उपायुक्त द्वारा जिला बाल संरक्षण ईकाई के 13 रिक्त अनुबंध पदों को भरने की प्रक्रया पूर्ण करने का निदेश दिया गया। साथ ही, बाल संरक्षण समिति को सलाह दी गई कि बाल संरक्षण के क्षेत्र में समग्र कार्य किया जाय।

जिला परिषद् अध्यक्ष सुनैना कुमारी, जिला समाज कल्याण पदाधिकारी मनीषा तिर्की, सिविल सर्जन डॉ संजय कुमार सुबोध, जिला जनसम्पर्क पदाधिकारी पलटू महतो, श्रम अधीक्षक धीरेंद्र महतो, बाल संरक्षण पदाधिकारी बीरेंद्र कुमार, बाल कल्याण समिति अध्यक्ष लक्ष्मीकांत प्रसाद, चाइल्डलाईन निदेशक चंद्रपति यादव, संरक्षण पदाधिकारी (संस्थानिक देख-रेख) अनुरंजन कुमार, बाल कल्याण समिति सदस्य मनोरमा मिंज, बबीता कश्यप, सुशीला कुमारी, सभी बाल विकास परियोजना पदाधिकारी व अन्य उपस्थित थे।

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

Leave a Comment

Your email address will not be published.