‌ सिमडेगा ( केरसई ) | केरसई-प्रखण्ड अन्तर्गत किनकेल पंचायत के चावँराटांड ग्राम सभा एवं किनकेल ग्राम सभा की सयुंक्त बैठक ग्रामसभा अध्यक्ष श्री राफेल कुल्लू की अध्यक्षता मे हुई । इस बैठक मे झारखंड जंगल बचाओ आंदोलन जनसंगठन के केरसई प्रखंड प्रभारी अनूप लकड़ा तथा जिला स्तरीय ग्राम सभा मंच के मीडिया प्रभारी श्री खुशीराम कुमार को विशेष रूप अमंत्रित किया गया था।इस बैठक में मुख्य रूप से वन क्षेत्र पदाधिकारी कुरडेग,फॉरेस्टर कुरडेग, वन रक्षी कुरडेग,वन पाल कुरडेग,उपस्थित थे।बैठक की संचालन प्रफुल्ल बिलुंग ने किया।इस बैठक में अनूप लकड़ा ने कहा कि ग्राम सभा को शशक्त और एकजुटता बना के रखना है।बहुत बार ऐसा देखा जाता है कि ग्राम सभा को दरकिनार कर योजनाओं को कार्यान्वित किया जाता है और ग्राम सभा को क्षति पहुंचाया जाता है जो ग्राम सभा के अधिकारों का हनन है।मौके पर खुशीराम कुमार ने कहा कि हमारा क्षेत्र पांचवी अनुसूचित क्षेत्र है यहाँ पेसा कानून लागू है जिसमें ग्राम सभा को अपने क्षेत्र में निर्णय करने का अधिकार है।इसके अलावे झारखंड पंचायती राज अधिनियम, वनाधिकार कानून 2006,सी एन टी एक्ट 1908 में भी ग्राम सभा को सवैंधानिक अधिकार दिया है।इसलिए ग्राम सभा को अब एकता के सूत्र में संगठित होकर अपने अधिकारों को लेना होगा।इस अवसर पर वन क्षेत्र पदाधिकारी कुरडेग ने भी इस बैठक में अपनी बिचारों को रखते हुए जंगल को अपने देख रेख में और बढ़ाने का प्रयास करें।बैठक में एरिक कुजूर,बिपिन किड़ो, एरिक केरकेटा, विक्रम मांझी,मेनका खाखा, पुनिता कुजूर, स्वाति खाखा,बिक्रम मांझी,समीर कुल्लु, रामेश्वर मांझी,बृन्दावती देवी, सुमित्रा देवी,कृष्णा मांझी, फुलसाय मांझी, बसंती देवी,कांति देवी, रजनी देवी सहित भारी संख्या में लोग उपस्थित थे।दधन्यबाद ज्ञापन जुएल कुजूर ने किया।।