हजारीबाग । राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकार एवं झारखंड राज्य विधिक सेवा प्राधिकार के तत्वधान में महा विधिक सेवा शिविर का आयोजन चुरचू प्रखंड के लारा फुटबॉल मैदान में मुख्य अतिथि चीफ जस्टिस झारखंड उच्च न्यायालय की उपस्थिति में संपन्न हुआ| कार्यक्रम के शुभारंभ में जिला जज ए.के.राय ने स्वागत संबोधन में कहा कि मेगा लीगल सर्विस कैंप का राज्य स्तरीय आयोजन हजारीबाग जिला के लिए गौरवशाली दिन है, आज के मौके पर समाज के सभी लोगों को कानून के मूलभूत जानकारी देने के अलावा सरकार की योजनाओं से लोगों को लाभान्वित हो सकें इसके लिए यह शिविर का आयोजन किया जा रहा है|
वही झालसा के चेयरमैन सुजीत नारायण प्रसाद ने संबोधन में कहा कि आजादी का अमृत महोत्सव का उद्देश्य सबको न्याय सुलभ हो इसको लेकर झालसा/नालसा इस प्रकार का आयोजन कर आम लोगों को संविधान प्रदत्त अधिकार सहित कानूनी प्रावधानों की जानकारी रखने एवं सरकारी योजनाओं का लाभ कैसे प्राप्त करें इसके बारे में जानकारी से लोगों को लैस करने को लेकर जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं|
उच्च न्यायालय के न्यायाधीश अपरेश कुमार सिंह ने संबोधन में कहा कि हर भारतीय खासकर ग्रामीण आबादी संविधान प्रदत्त अधिकार व सरकार की कल्याणकारी योजनाओं से लाभान्वित हो यह हम सब का प्रयास है सामाजिक,आर्थिक विधिक समानता से ही देश और जनता का कल्याण संभव है लोगों तक योजना का लाभ दिलाने व इसके लिए जानकारी से लैस कर उनको सशक्त किया जा सकता है।वही इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि मुख्य न्यायाधीश झारखंड उच्च न्यायालय राजीव रंजन ने आयोजन की प्रशंसा करते हुए कहा कि इस कार्यक्रम में महिलाओं की भारी भागीदारी महिला सशक्तिकरण का सूचक है|