साहिबगंज। प्रशासन साहिबगंज की ओर से साहिबगंज महाविद्यालय के सहयोग से साहिबगंज महाविद्यालय के नंदन भवन में गृह मंत्रालय भारत सरकार द्वारा प्रायोजित 9वीं बटालियन एनडीआरएफ की टीम के द्वारा आपदा प्रबंधन तथा भूकंप से सुरक्षा एवं प्राथमिक उपचार पर आधारित एक दिवसीय प्रशिक्षण शिविर चलाया गया।इस एक दिवसीय कार्यक्रम में एनडीआरएफ टीम का नेतृत्व कमांडेन्ट श्री राहुल कुमार सिंह तथा सब इंस्पेक्टर श्री सोमन्त सिंह ने किया। इस एक दिवसीय शिविर में भूकंप से संभावित खतरे से बचाव, 3 प्राथमिक तरीके डक (झुकना),कवर, (बचाव) एवं होल्ड (पकड़ना) तथा, दुर्घटना आदि में घायल व्यक्ति के प्राथमिक उपचार, तथा रक्तस्राव को रोकने के लिए त्वरित एक्शन डायरेक्ट प्रेशर, एलिवेशन , प्रेशर पॉइंट , टार्निकेट,के विषय में बताया गया साथ ही स्ट्रेचर लिफ्टिंग तथा मूविंग के विषय में जानकारी दी गई,साथ ही साथ एनडीआरएफ टुकड़ी की गठन एवं उद्देश्यों के बारे में भी जानकारी दी गई।झारखंड तथा बिहार के महापर्व कहे जाने वाले छठ को देखते हुए जिले वासियों से यह अपील की गई कि गंगा नदी का जलस्तर काफी बढ़ा हुआ है इसलिए सुरक्षा दृष्टि से बच्चों को गहरे पानी में ना उतरने की अपील की गई। कमांडेंट श्री राहुल कुमार सिंह ने बताया कि इस कार्यक्रम के जरिए युवाओं एवं छात्र छात्राओं को आपदा प्रबंधन के विषय में जागरूक करना एनडीआरएफ टीम का लक्ष्य है। आपदा से संबंधित खतरे से सुरक्षा के विषय में यदि लोगों को पहले से ही जागरूक हो तो उससे हो रहे हानि को कम किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि भूकंप, बाढ़, चक्रवात अतिवृष्टि, आदि जैसे प्राकृतिक आपदाओं या मानव जनित आपदाओं के अचानक आ जाने से लोगों में डर एवं घबराहट का माहौल फैलने लगता है जिससे जानकारी के अभाव में हम जान माल की सुरक्षा करने में असमर्थ रहते हैं इसलिए लोगों को प्राकृतिक आपदा एवं सड़क दुर्घटना आदि जैसे जानलेवा खतरों से निपटने के लिए आवश्यक एवं जरूरी उपायों एवं तत्काल निर्णय लेने की तरीकों के बारे में अवगत हो सकें। एनडीआरएफ की टीम हमेशा लोगों की सुरक्षा एवं आपदाओं से निपटने के लिए नागरिकों को तैयार करने का कार्य करती है।मौके पर उप विकास आयुक्त श्री प्रभात कुमार बरदियार ने बताया कि एनडीआरएफ टीम के द्वारा आपदा के खतरे से निपटने के लिए साहिबगंज में उनका विशेष रूप से योगदान है, इस कार्यक्रम के मदद से छात्र-छात्राओं के बीच जागरूकता फैलाना बहुत ही आवश्यक है ताकि छात्र-छात्राओं के अंदर भूकंप चक्रवात बाढ़, सड़क दुघर्टना, आदि आपदाओं से निपटने के लिए पहले से ही सुरक्षा के आवश्यक प्रबंध करने में शिक्षित एवं प्रशिक्षित हो। एनएसएस कार्यक्रम पदाधिकारी डॉ रंजीत कुमार सिंह ने बताया कि साहिबगंज जिला प्राकृतिक आपदा से घिरा हुआ है यहां पर प्राय: वज्रपात, अतिवृष्टि, सड़क दुर्घटना, भूकंप एवं नदियों से बाढ़ की समस्या स्थानीय नागरिकों को झेलनी पड़ती है , इसलिए आवश्यक है कि हम प्रारंभ से ही खतरे से बचाव का प्रशिक्षण ले ताकि आपदा के समय हम सुरक्षित रह सके। एवं समुदायों में आपदा मित्र बनकर लोगों की सेवा कर सके। इस प्रशिक्षण शिविर का आयोजन करने के लिए उन्होंने एनडीआरएफ की टीम को विशेष रूप से धन्यवाद दिया। साथ ही साथ जिले वासियों को भी आने वाले आपदाओं से निपटने के लिए सतर्क एवं जागरूक रहने की अपील की। इस एक दिवसीय प्रशिक्षण शिविर में एनडीआरएफ की टीम से विद्यासागर मंडल, हरिनाथ सिंह, कमलेश कुमार, वशिष्ठ नारायण साहू, संजीव कुमार, मोहम्मद फारूक, अरुण कुमार,समीर बासक, योगेश कुमार, विपुल कुमार राम, पंकज कुमार, दीपक कुमार सिंह एवं मलकीत सिंह की सराहनीय भूमिका रही।
उक्त कार्यक्रम साहिबगंज महाविद्यालय के प्रभारी प्राचार्य डॉ राहुल कुमार संतोष की देखरेख में संचालित की गई एवं धन्यवाद ज्ञापन एनएसएस स्वयंसेवक अमन कुमार होली ने किया।