सेन्हा/लोहरदगा l झारखंड आंदोलन कारी मोर्चा का बैठक चैतू मुंडा की अध्यक्षता में सोमवार को सेन्हा प्रखंड परिसर में आयोजित किया गया। आंदोलन कारी का आयोजित बैठक में आगामी 13 नवम्बर को मुख्यमंत्री आवास घेराव को लेकर विस्तार पूर्वक चर्चा किया गया। इस मौके पर आंदोलन कारी मोर्चा के प्रदेश सदस्य रामनन्दन साहू ने बताया कि लगातार 6 वर्षो से प्रदेश के सभी जिला व प्रखंड में आंदोलनकारी अपने हक अधिकार के लिए प्रयासरत हैं। परन्तु आज तक सरकार आंदोलनकारियों को लाभ या सुविधा नही दे रही है। वर्तमान झारखण्ड सरकार के मुखिया हेमन्त सोरेन आंदोलनकारी परिवार के सदस्य होने के बाबजूद हम सभी आंदोलन कारी साथी के प्रति सौतेला व्यवहार करते हुए आंदोलनकारियों के हित में पेंशन के लिए कोई कदम आज तक नही उठाया गया है। साथ ही उन्होंने कहा अनेकों बार पत्र और ज्ञापन के माध्यम से आंदोलनकारियों का समस्या से माननीय मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया लेकिन सत्ता के नशा में चूर हेमंत सरकार आंदोलन कारी साथी के मांगो को अनसुनी कर हम सभी के मांगो पर पर्दा डाल रखें है। सहित विभिन्न मुदों पर चर्चा करते हुए बताया कि भाजपा के सरकार में पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास ने आंदोलनकारियों की सूची उपलब्ध कराने के लिये निर्देश जारी किया था। लेकिन आज वह भी टांय टांय फीस हो गया। वही प्रखंड अध्यक्ष चैतू मुंडा ने कहा कि सरकार आंदोलनकारियों की मांग पर सुनवाई नही करती है। तो आंदोलनकारी बाध्य हो कर प्रखंड स्तर से राज्य स्तर तक आंदोलन करेंगे। बैठक में दुखिया उराँव,कर्मपाल बड़ाइक,रोपण उराँव,अमानत अन्सारी,नन्दू लोहरा,चन्द्र उराँव,गीता उराईन,बितनी उराईन,बिरसमुनी उराईन,चरवा उराँव,बीजू भगत सहित आंदोलनकारी उपस्थित थे।