लोहरदगा l नहाय खाय अनुष्ठान के साथ लोक आस्था का महापर्व छठ सोमवार को शुरू हो गया। चार दिनों के इस धार्मिक अनुष्ठान को लेकर छठ व्रतियों ने पूजा अर्चना कर कद्दू भात का भोग लगाकर अनुष्ठान की शुरुआत की। इसके साथ ही जिले भर में भक्ति की धारा बह निकली है। घर-घर में छठ मैया के गीत बज रहे हैं। मंगलवार को खरना अनुष्ठान संपन्न होगा जबकि बुधवार को अस्ताचलगामी सूर्य को अ‌र्घ्य दिया जाएगा। वहीं गुरुवार को उदयीमान सूर्य को अ‌र्घ्य अर्पित किया जाएगा। भगवान भास्कर और छठ मैया की पूजा आराधना का महापर्व छठ में धार्मिक अनुष्ठानों के आयोजन से पूरा वातावरण भक्तिमय में हो चुका है। लोग पूरी श्रद्धा और आस्था के साथ पूजा-अर्चना में जुट गए हैं। हर कोई इस महापर्व में सहभागी बनने को आतुर नजर आ रहा है। पूजा अनुष्ठान को लेकर एक अलग ही वातावरण नजर आ रहा है। छठ घाटों को पूरी तरह से तैयार कर लिया गया है। जनप्रतिनिधियों के अलावा स्थानीय पूजा समिति और नगर परिषद के अधिकारियों ने भ्रमण कर छठ घाटों को तैयार करने में अपना सहयोग प्रदान किया है। छठ घाट तक पहुंचने वाले रास्तों को दुरुस्त किया गया है। साथ ही प्रकाश की व्यवस्था, सुरक्षा व्यवस्था और पूजन सामग्रियों की व्यवस्था भी की गई है। जिन घरों में छठ महापर्व का आयोजन नहीं हो रहा है, उस परिवार के सदस्य भी दूसरे लोगों का सहयोग कर छठ महापर्व में सहभागी बन रहे हैं। छठ महापर्व को लेकर पूजा समितियों द्वारा भक्ति गीत बजाए जा रहे हैं। जिससे एक अलग ही भक्तिमय वातावरण नजर आ रहा है। लोक आस्था के महापर्व का उल्लास ऐसा है कि शहर से लेकर गांव तक भक्ति की धारा बह रही है। छठ महापर्व को लेकर पूजन सामग्रियों की खरीद भी जोर-शोर से चल रही है। लोग पूजा की तैयारियों में रम चुके हैं। अब सभी को अस्ताचलगामी सूर्य और उदीयमान सूर्य को अ‌र्घ्य देने को लेकर उस पावन बेला का इंतजार है।