लोहरदगा l उपायुक्त दिलीप कुमार टोप्पो की अध्यक्षता में आज स्वास्थ्य विभाग के द्वारा विभिन्न कार्यों की समीक्षा की गई। बैठक में एएनसी-1, प्रथम तिमाही में एएनसी, चतुर्थ एएनसी, संस्थागत प्रसव, टीकाकरण, परिवार नियोजन, एमटीसी केंद्रों की स्थिति, शिशु मृत्यु दर, मातृ मृत्यु दर, टीबी/कुष्ठ रोगियों की स्थिति, कोविड टीकाकरण समेत अन्य बिंदुओं चर्चा की गई और निदेश दिये गये।

आज की बैठक में उपायुक्त द्वारा सभी प्रखण्डों में प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी, सेविका-सहायिका समेत अन्य की समेकित साप्ताहिक बैठक आयोजित करने का निदेश दिया गया। एएनसी फस्र्ट की स्थिति सभी प्रखण्डों में सौ फीसदी किये जाने, डेटा इंट्री का कार्य प्रत्येक माह 18 तारीख से पहले पूरा कर लेने और डेटा इंट्री नहीं करने वाले एएनएम पर कार्रवाई करने का निदेश दिया गया। एएनसी फस्र्ट में गर्भवती महिलाओं का रजिस्ट्रेशन का काम समय से करने का निदेश दिया गया। फोर्थ एएनसी में सेन्हा, भण्डरा और किस्को एमओआइसी को प्रत्येक सप्ताह में बैठक करने और दिये गये निर्देशों का फोलोअप करने का निदेश दिया गया। जो सहिया अपना कार्य ठीक से नहीं कर रही है उन्हें ग्रामसभा के जरिये नियमानुसार सेवा से हटाये जाने का निदेश दिया गया।
संस्थागत प्रसव में लगातार गर्भवती महिला और उसके परिवार के संपर्क में रहने, सहिया द्वारा इसकी माॅनिटरिंग किये जाने का निदेश दिया गया ताकि संस्थागत प्रसव को बढ़ावा दिया जा सके।

सामान्य और कोविड टीकाकरण की स्थिति सुधारें

उपायुक्त द्वारा जिले में बच्चों के लिए नियमित रूप से चलनेवाले टीकाकरण कार्यक्रम और कोविड टीकाकरण की समीक्षा की गई। सामान्य टीकाकरण पर निदेश दिया गया कि किसी भी स्थिति में बच्चों का टीकाकरण कार्यक्रम प्रभावित नहीं होना चाहिए। नियमित रूप से टीकाकरण चलायें। टीकाकरण की जवाबदेही तय करें।
उपायुक्त ने कहा कि कोविड टीकाकरण में दूसरा डोज लेनेवालों की संख्या पहला डोज लेनेवालों की अपेक्षा कम है। यह अत्यंत चिंता का विषय है। कोविड टीका का दोनों डोज लेने के लिए लोगों को प्रेरित करें। कोरोना वायरस से बचाव के लिए दोनों डोज बेहद अहम हैं।

परिवार नियोजन के लिए जागरूक करें

उपायुक्त द्वारा जिले में परिवार नियोजन के लिए लोगों को परिवार नियोजन के तरीकों को बताने व उन्हें अपनाने के लिए जागरू करने का निदेश दिया गया। बैठक में एनएसवी, फीमेल इंस्टरलाइलेजशन, पीपीयूसीडी, आइयूसीडी, अंतरा आदि परिवार नियोजन पर जिले की उपलब्धि पर चर्चा की गई और नये तरीकों के प्रति भी लोगों को जागरूक करने का निदेश दिया गया।

बैठक में शिशु मृत्यु दर व मातृ मृत्यु दर की संख्या में कमी लाने के प्रयास करने, टीबी/कुष्ठ रोगियों की चिकित्सा व उनकी स्थिति आदि विषयों पर चर्चा की गई।

बैठक में उप विकास आयुक्त अखौरी शशांक सिन्हा,जिला समाज कल्याण पदाधिकारी, डाॅ अनुज खलखो, डीपीएम नाजिश अख्तर, डीडीएम जाहिद, सभी एमओआइसी, सभी सीडीपीओ समेत अन्य उपस्थित थे।