लोहरदगा l उपायुक्त दिलीप कुमार टोप्पो के द्वारा जिले के किसान भाइयों से अपील की गई है कि इस वर्ष धान की पैदावार अच्छी हुई है।बीते वर्ष को भांति इस वर्ष भी खरीफ विपणन मौसम 2021-22 में धान अधिप्राप्ति का कार्य माह नवंबर, 2021 में संभावित है। जो किसान अपना धान लैम्प्स के माध्यम से बिक्री करना चाहते हैं वैसे किसानों का लैम्प्स में निबंधित होना आवश्यक है। साथ ही, जिन किसानों का निबंधन पूर्व में किया जा चुका है उनके द्वारा विवरणी में आवश्यक संशोधन/सुधार भी कराया जा सकता है। निबंधन के समय किसानों से निर्धारित फोटोयुक्त वैध पहचान पत्र यथा-आधार संख्या, मोबाईल नंबर, बैंक खाता विवरणी, कृषि कार्य हेतु प्रयुक्त भूमि का रकबा (खाता संख्या एवं प्लाॅट संख्या) आदि की जानकारी प्राप्त की जाएगी। निबंधन के लिए प्राप्त आवेदन-पत्र की जांचोपरांत किसानों का निबंधन कार्य पूर्ण किया जायेगा। वित्तीय वर्ष 2021-22 में धान अधिप्राप्ति की निर्धारित क्रय दर 20.50 (बीस रुपये पचास पैसे) रुपये प्रति किग्रा है। अतः किसान भाईयोे से अपील है वे निर्धारित क्रय दर पर लैम्पस में ही धान की बिक्री करें। किसी बिचैलिये के माध्यम से अपनी उपज का विक्रय निर्धारित मूल्य से कम पर नहीं करें। लैम्पस द्वारा क्रय किये गये अनाज का मूल्य आपके बैंक खाते में NEFT/RTGS/PFMS माध्यम सीधे हस्तांरित कर दी जाएगी। किसान अपना धान जब लैम्पस में अपना धान विक्रय करेंगे तो उन्हें प्रति किग्रा 20.50 की दर से सरकार धान का मूल्य देगी। राज्य के किसानों को आर्थिक रूप से सुदृढ़ करने हेतु धान अधिप्राप्ति योजना अंतर्गत यह दर किसान भाइयों को सरकार दे रही है। इसके अंतर्गत खरीफ विपणन मौसम 2021-22 में धान का न्यूनतम समर्थन मूल्य साधारण धान के लिए 18.68 रूपये प्रति किग्रा और ग्रेड ए धान के लिए 18.88 रूपये प्रति किग्रा की दर तय किया गया है। किसानों को राज्य सरकार द्वारा 1.82 रुपये प्रति किग्रा की दर से न्यूनतम समर्थन मूल्य के अतिरिक्त बोनस दिया जायेगा। इस प्रकार किसान को कुल मिलाकर 20.50 प्रति किग्रा की दर से सरकार उसके बैंक खाते में क्रय किये गये धान के मूल्य की राशि का भुगतान नेफ्ट/आरटीजीएस/पीएफएमएस के माध्यम से करेगी।

अतः किसान भाइयों से एक बार फिर से अपील है कि सरकार द्वारा निर्धारित दर पर ही अपना उत्पादित धान जिले के धान क्रय केंद्रों पर बेचें और इस अवसर का लाभ उठाएं।