चाईबासा। तम्बाकू के सेवन को लेकर युवाओं को सचेत करने के उद्देश्य से पश्चिमी सिंहभूम जिले में विद्यालयों में जागरूकता का अभियान शुरू किया गया है।इसके तहत कक्षा 08 से 10 के विद्यार्थियों एवं शिक्षकों के बीच जागरूकता एवं उन्मुखीकरण कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। इसका मुख्य उद्देश्य तम्बाकू से होने वाले दुष्परिणाम से लोगों को बचाना और जागरूक करना है। तम्बाकू के सेवन से होनेवाले मुख्यत: मुँह एवं फेफड़ों के कैंसर से बचने के प्रति चेतना लायी जा रही है। विशेषज्ञों द्वारा ये भी बताया जा रहा है किस प्रकार कोटपा अधिनियम 2003 का सख्ती से अनुपालन करने पर काफी हद तक तम्बाकू के उपयोग को नियंत्रित किया जा सकता है। सदर हॉस्पिटल में डेंटल OPD में चल रहे तम्बाकू निवारण केंद्र के बारे में भी जानकारी दी जा रही है, जहां तम्बाकू की लत को छोड़ने की चाह रखने वालों का इलाज किया जाता हैं। इसके अलावा तम्बाकू सेवन से जुड़ी समस्याओं को‌लेकर टोल फ्री नंबर 1800112356 पर काॅल करने की सलाह भी दी जा‌ रही है। उम्मीद की जा सकती है कि इस प्रकार के अभियान से छात्रों को जोड़ने का अच्छा परिणाम देखने को मिलेगा।