हजारीबाग । झारखण्ड राज्य शहर से लेकर गांव तक सुखाड़ की चपेट में है। हर जगह पानी की समस्या ने विकराल रूप ले लिया है। ऐसे में राज्य की सरकार जिला से लेकर प्रखंड स्तर तक पानी की गंभीर समस्या से निपटने व योजनाओं को धरातल पर लाने के हर मुमकिन प्रयास कर रही हैं। पदाधिकारी हर क्षेत्र में कूप डोभा व तालाब निर्माण कराने में लगे हुए हैं। जिससे जनता को कई प्रकार के लाभ मिल रहें हैं। नागरिकों को जल की सुविधा उपलब्ध होने से उनके लिए रोज़गार के कई अवसर प्राप्त हो रहे हैं। किसान अपनी भूमि में कृषि कर आत्मनिर्भर बन अपनी आजीविका बढ़ा रहें हैं।

बेहतर साधन जीवन आसान कई मुश्किलों का समाधान
कहते हैं ना अगर मेहनत करने की लगन और बेहतर साधन उपलब्ध हो तो कई मुश्किलें आसान हो जाती हैं। एसे ही विष्णुगढ़ प्रखंड, पंचायत गाल्होबाऱ के एक किसान राजु रविदास है जिनके पास खेत और खेती करने की लगन तो थी, पर उनके पास सिंचाई के साधन उपलब्ध नहीं थे। राजु खेती ना कर अपने ही गांव में दैनिक मजदूरी का कार्य किया करते थे। जैसे ही उन्हें सरकार की महत्वपूर्ण योजना डोभा निर्माण की सूचना मिली उनका मन हर्षोल्लासित हुआ। उन्हें आशा की नई किरण और आंखों में रोजगार की नई चमक दिखाई दी। आज वे इस योजना का लाभ लेकर अपने जीवन की रूपरेखा बदल रहे हैं। 60×60×10 आकार की डोभा निर्माण के दौरान उन्हें दैनिक मजदूरी का भी लाभ मिला। साथ ही कई और मजदूरों को दैनिक मजदूरी और रोजगार का अवसर मिला।