तीन काले कानूनों का वापस करवाने में कांग्रेस पार्टी का सबसे अहम योगदान-अंबा प्रसाद

रामगढ़ ( पतरातू ) | बड़कागांव विधायक अंबा प्रसाद ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा वापस लिए गए तीन कृषि कानून को किसानों की जीत बताई है तथा इस मुहिम मे कांग्रेस पार्टी का योगदान सबसे अहम बताया है|
अंबा प्रसाद ने कहा कि केंद्र की अहंकारी नरेंद्र मोदी की सरकार ने अंततः हमारे अन्नदाता किसानों के सामने घुटने टेक दिए,यह जीत किसानों की जीत है, यह जीत उन 700 से ज्यादा किसानों की जीत है जिन्होंने इन कानूनों को वापस करवाने के लिए अपने प्राण निछावर कर दिए। उन किसानों की शहादत को आने वाली पीढ़ियां याद रखेगी कि किस तरह से इस देश के किसानों ने अपनी जान की बाजी लगाकर किसानों के हक एवं अधिकारों की रक्षा की थी, उन सभी किसान भाइयों को मैं श्रद्धांजलि अर्पित करती हूं। उन्होंने कहा कि तीनों कृषि कानून को वापस करवाने में देश के किसानों के साथ हमेशा खड़े रहे श्री राहुल गांधी जी, प्रियंका गांधी जी एवं कांग्रेस पार्टी के सभी पदाधिकारियों तथा कार्यकर्ताओं का अहम योगदान है।
अंबा प्रसाद ने कहा कि कांग्रेस पार्टी किसान, गरीब तथा मजदूर की पार्टी है और जब जब उनको दबाने तथा उनके हक अधिकार को कुचलने का प्रयास किया गया है कांग्रेस पार्टी उनकी ढाल बनकर सबसे आगे खड़ी हुई है और उसी का यह परिणाम है कि केंद्र सरकार को तीन काला कानूनों को वापस लेना पड़ा।
इन तीनों कृषि कानूनों को वापस करने के लिए राज्य स्तर पर भी कांग्रेस पार्टी द्वारा लगातार जन जागरण कार्यक्रम तथा रैलियां की गई थी। दिनांक 20 फरवरी 2021 को हजारीबाग के गांधी मैदान में भी विशाल महासभा की गई थी जिसमें राज्य भर के किसानों ने ट्रैक्टर रैली के माध्यम से इन तीनों कानूनों को केंद्र सरकार से वापस करवाने की हुंकार भरी थी।