चाईबासा। तांतनगर प्रखंड क्षेत्र के विभिन्न गांव में बीती रात जंगली हाथियों के झुंड ने जमकर तबाही मचायी। हाथियों के झुंड ने किसी के खेत को रौंदा, तो किसी के बागवानी की फसलों को भी बर्बाद कर दिया। इससे प्रखंड क्षेत्र के लोग रात भर दहशत में रहे। बताया जा रहा है कि जंगली हाथियों का झुंड करीब 9 बजे अंगरडीहा जंगल से निकला था। अंगरडीहा समेत आसपास गांव के ग्रामीणों ने खदेड़ते हुए जंगली हाथियों को अंगरडीहा, पुरचियासाइ, सालीबुरु, गिदवास, पुरनिया बानासंजू, उलीडीह, सोलपाड़ा होते हुए तांतनगर तक पहुंचा दिया। इस दौरान रात भर विभिन्न गांव के ग्रामीणों के चिल्लाने चीखने की आवाज गूंजती रही। यह सिलसिला रात भर चलता रहा। विभिन्न गांव में तबाही मचाने के बाद अहले सुबह लगभग 4 बजे वापस अंगरडीहा जंगल की ओर लौट गया। ग्रामीणों में इतना भय था कि लोग अपने घरों में दुबके रहे। लेकिन गांव के युवाओं ने हाथियों के झुंड को भगाने का प्रयास करते रहे। लोगों कहना है कि हाथी के आने के बाद पूरे गांव के लोग भयभीत हो गए। क्योंकि इस क्षेत्र में हाथी काफी लंबे समय से आते ही नहीं। लेकिन भय के बीच लोग समूह बना कर हाथी को भगाने का सफल रहे। हालांकि रात भर हाथियों को खदेड़ने का सिलसिला जारी रहने के कारण लोगों भारी नुकसान नही हुआ। लेकिन जिस रास्ते से हाथियों का झुंड गुजरा, उस रास्ते में रखे फसलों को तहस-नहस कर दिया।