कृषि कानून वापस होना आंदोलन का सही नतीजा है :उदय लखवानी

पाकुड़ । कृषि कानून बिल भारत सरकार द्वारा वापस लिए जाने से पाकुड़ जिले के कांग्रेसियों में उत्साह का माहौल है । इस संदर्भ में पाकुड़ जिला कांग्रेस कमेटी के जिला अध्यक्ष उदय लखवानी ने बयान जारी कर कहा है कि वर्षों से चला आ रहा तीन कृषि कानून बिल वापस होने के साथ ही यह आंदोलन आज समाप्त हो गया । जिला अध्यक्ष उदय लखवानी ने कहा कि यह जीत किसानों के लिए सौगात लेकर आयेगी। बरसों से चला आ रहा यह किसान आंदोलन व्यर्थ नहीं गया। कांग्रेस ने इस आंदोलन का देश भर में अपनी ओर से पूरा समर्थन दे रखा था और कहां था जब तक यह काला कानून वापस नहीं हो जाता तब तक आंदोलन जारी रहेगा । किसानों के हित में काग्रेस हमेशा से ही खड़ा रहा है और खड़ा रहेगा। श्री लखवानी ने कहा कि काला बिल वापस होने से किसानों के चेहरे दुख की झुर्रियां हटकर खुशी के माहौल में तब्दील हो गई है । देर से ही सही पर सरकार को अपनी गलतियों का एहसास हुआ है । श्री लखानी ने कहा कि यह जीत किसानों को समर्पित है । भारत की जनता की यह जीत है । गरीबों की जीत है। यहां के दबे कुचले लोगों की जीत है ।उन्होंने स्पष्ट कहा कि भाजपा द्वारा भारतीय जनता के खिलाफ कोई भी कानून चलने नहीं दिया जाएगा ।भारत एक धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र है । हम सबको इसके अनुरूप ही चलना है । इससे खिलवाड़ करने की अनुमति किसी को प्राप्त नहीं है । चाहे वह कोई भी हो। कांग्रेस शुरू से ही किसानों की हिमायती रहा है और आगे भी रहेगा ।