स्थानीय लोगों की खनिज संपदा,जमीन लूटने व सौतैला व्यवहार बंद करे झारखंड सरकार :- बाबूलाल मरांडी पूर्व मुख्यमंत्री, ।

महेशपुर ( पाकुड़ ) । शुक्रवार को भारतीय जनता पार्टी का स्थानीय जनमुद्दों का समापन हुआ।स्थानीय जनमुद्दों पर भाजपा ने जोरदार धरना के मध्यम से विरोध प्रदर्शन किया गया।धरना प्रदर्शन के दूसरे दिन शुक्रवार को झारखंड के प्रथम मुख्यमंत्री सह विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी भी इस धरना प्रदर्शन कार्यक्रम में शामिल हुए।बाबूलाल मरांडी ने उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि सुबे के मुख्यमंत्री झारखंड यहां की स्थानीय लोगों के साथ सौतैला व्यवहार कर रहे हैं।अगर आप लोगों की विकास योजना में सरकार सौतैला व्यवहार कर रहे हैं तो बाताए हम आप लोगों के साथ जोरदार आंदोलन करेंगे।यहां की खनिज संपदा को लूटने का काम कर रहे हैं।झारखंड सरकार हर क्षेत्रों में पदाधिकारी रिस्वत माँगते है।रिस्वत के बिना कोई काम नहीं किया जाता है।यहाँ की जल, जंगल,जमीन, बालू, कोयला,सभी लूट रही है सरकार केन्द्र की विकास योजना को झारखंड सरकार लागू नहीं कर रहे हैं।केन्द्र से भेजे गए राशि को खर्च नहीं किया जाता है।दो साल पुरा हो गाए लेकिन अभी तक कई विकास ही नहीं किया गया है।झुठे वादे करके सत्ता में आए हैं।हेमंत सोरेन सरकार एक भी घोषणा पुरा नहीं किया गया है।जब हम सरकार मे थे तब हमने स्थानीय लोगों को 75% रोजगार नौकरी दिए थे।आज भी अगर आप सब लोगों ने साथ दिया,सरकार बनाया तो फिर से स्थानीय लोगों को 75% आरक्षण दिया जाएगा।झारखंड सरकार यहाँ की खनिज संपदा को जामकर लूट रही है।यहां की आदिवासी/मूलवासियों को विस्थापित कर जिस तरह जनवरों को पला जाता है।उसी प्रकार झारखंड सरकार, पंश्चिम बंगाल व बीजीआर कम्पनी यहां की जनता को रखा जाता है।सुआर, बकरी, गाय जैसे यहां कोल माइंस के विस्थापित लोगों को रखा जाता है।उनके लिए आज भी एक अच्छा सा घर तक नासिब नहीं हुई है।कोल माइंस सड़क के किनारे रहने सभी स्थानीय लोगों को आज भी कोयला धुआं के कारण कई सारे बीमारियों से ग्रसित हो जाते हैं।ना तो इस क्षेत्रों में अच्छी अस्पताल की सुविधाएं है।और न ही अच्छी स्कूल, कालेज बनाए गए हैं।जल, जंगल जमीन की रक्षा करने की बात करने वाले झारखंड सरकार स्थानीय लोगों के साथ सौतैला व्यवहार कर रही है।

इस कार्यक्रम में मिस्त्री सोरेन पूर्व विधायक महेशपुर, एसटी मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष दानिएल किस्कू ,मंगल हाँसदा जिलाध्यक्ष बलराम दूबे,जिलाउपाध्यक्ष आमृत पाण्डेय, सा।हेब हाँसदा, जिला युवा मोर्चा अध्यक्ष जयसेन बेसरा, विजय भगत,आदि ने भी अपना विचार को रखा गया।