साहिबगंज । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने किसान विरोधी तीनों काला कानून को वापस लेने की घोषणा की है।ये कानून वापसी हमारे किसान भाइयों द्वारा किए गए निरन्तर आंदोलनों,उनके बलिदानों और हमारे नेता राहुल गांधी के नेतृत्व में संयुक्त विपक्ष द्वारा बिना समझौता किए वर्ष भर के संघर्ष का परिणाम है।इसी संदर्भ में प्रदेश कांग्रेस कमिटी के निर्देशानुसार जिला कांग्रेस कार्यालय में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया गया।जिसमें जिला कांग्रेस कमिटी साहेबगंज के अध्यक्ष अनुकूल मिश्रा ने पत्रकार बंधुओं को संबोधित करते हुए कहा कि ये सिर्फ भारत के अन्नदाता की जीत नहीं अपितु भारत के आत्मा की जीत है।ये लोकतंत्र की जीत है और कांग्रेस पार्टी ने इस पूरे आंदोलन में किसानों के साथ हर कदम पर सहयोग किया है।पूरे विपक्ष ने कांग्रेस पार्टी के नेतृत्व में देश भर में अपने स्तर पर आंदोलन खड़ा कर किसान विरोधी इस काला कानून का पुरजोर विरोध किया है।हमारे नेता राहुल गांधी ने संसद से लेकर सड़क तक बार बार ये दुहराया था कि किसान सरकार के आगे कभी नहीं झुकेगा और मोदी जी को किसान विरोधी इस काला कानून को वापस लेना होगा।राहुल गांधी की ये बात शत प्रतिशत सही साबित हुई और मोदी ने कल माफी मांगते हुए इस काला कानून को वापस लेने की घोषणा किया।हम कांग्रेस पार्टी किसानों के संघर्ष और बलिदान के सम्मान में “किसान विजय दिवस” के रूप में मना रहे हैं।साथ ही हम इस किसान आन्दोलन में शहीद हुए 700 किसानों के दिवंगत आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना करते हैं।हम केंद्र सरकार से मांग करते हैं कि इस आंदोलन में जान गंवाने वाले किसानों को शहीद का दर्जा दिया जाए क्योंकि उन्होंने देश के लिए अपने जान की कुर्बानी दी है साथ ही उन्हें उचित मुआवजा भी दिया जाए।कॉन्फ्रेंस में जिला अध्यक्ष अनुकूल मिश्रा,जिला उपाध्यक्ष मो कलीमुद्दीन,जिला सचिव सरफ़राज़ आलम,जिला सचिव नित्यानंद गुप्ता,जिला कार्यकारिणी कमिटी शेख जुम्मन अली,अल्पसंख्यक विभाग के सचिव सब्दुल अंसारी,किसान नेता सुखदेव सिंह एवं बुनीलाल सिंह एवं दर्जनों कार्यकर्ता उपस्थित थे।