साहिबगंज ( उधवा ) । पश्चिम बंगाल राज्य के मालदा जिले के एक अस्पताल में उधवा के युवा पत्रकार अब्दुल वहाब ने रक्त देकर एक व्यक्ति की जान बचाई।रक्त देने के बाद उक्त व्यक्ति स्वास्थ्य हो गया।जानकारी के अनुसार थाना क्षेत्र के पश्चिमी प्राणपुर गांव के एक व्यक्ति कई सालों से बीमार से ग्रसित थे। अचानक तबियत बिगड़ने पर परिजनों ने उसे इलाज के लिए मालदा के मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल मालदा में भर्ती कराया था।जहां डॉक्टरों ने जांच किया तो खून की कमी पाई गई। डॉक्टरों ने परिजनों से कहा की बीमार व्यक्ति में खून की कमी है।यदि कोई स्वेच्छा से रक्तदान करे तो बीमार की जान बचाई जा सकती है।उसे सोमवार को खून चढ़ाना था।जिसके बाद डॉक्टरों ने परिजनों को खून उपलब्ध कराने की बात कही गई।परिजनों ने उक्त व्यक्ति को रक्त चढ़वाने के लिए इधर उधर भटक रहे थे।उक्त व्यक्ति को o पॉजिटिव खून की जरूरत थी।इस दौरान जैसे ही पत्रकार अब्दुल वहाब को सूचना मिली तुरंत ही अस्पताल पहुंचकर उक्त व्यक्ति को एक यूनिट रक्त देकर नया जीवन दिया।अभी उक्त व्यक्ति की हालत में सुधार हुई है। वही बीमार व्यक्ति की हालत में सुधार होने पर परिजनों ने राहत की सांस ली है।वही पत्रकार अब्दुल वहाब ने बताया की वह पहली बार रक्तदान किया है और कहा की जब भी जरूरत पड़ेगी वे रक्तदान के लिए तैयार रहेंगे।आगे कहा की सभी युवाओं को आगे बढ़कर रक्तदान के लिए आगे आना चाहिए।रक्तदान करने से कमजोरी महसूस नही होती है।रक्तदान से शरीर स्वास्थ्य रहता है।सभी को प्रत्येक चार महीने में रक्तदान अवश्य करना चाहिए।वही उक्त व्यक्ति के परिजनों ने समेत इलाके के लोग पत्रकार की खूब सराहना करते नही थक रहे है।