चाईबासा। सामुदायिक पुलिसिंग सहायोग के तहत विद्यार्थी को मिली लैपटॉप को शिक्षक के रखने से नाराज युवक को सोशल मीडिया पर ट्वीट करना मंहगा पड़ गया है। पुलिस ने युवक को थाना में बुलाकर जमकर पिटाई की।मामले को लेकर पीड़ित ने पुलिस अधीक्षक से लिखित शिकायत कर कार्रवाई करने की मांग की है। कुमारडुंगी थाना क्षेत्र के लखीमपोसी के रमेश बेहरा द्वारा पुलिस अधीक्षक को लिखे पत्र के अनुसार गांव के विद्यार्थी हेलिन बेहरा कुमारडुंगी प्लस टू के विद्यार्थी को 20 नवम्बर को झींकपानी थाना में सामुदायिक पुलिसिंग सहयोग कार्यक्रम में पुलिस की और से लैपटॉप दिया गया था। उस लैपटॉप को विद्यालय के शिक्षक ने रख लिया।पुरस्कार में मिले लैपटॉप को शिक्षक के रखने पर गांव के युवक रमेश बेहरा ने चाईबासा पुलिस को टैग करते हुए ट्वीट अकाउंट में लिखा हेलिन को पुरस्कार में मिले लैपटॉप को शिक्षक को पुरस्कृत किया जाए। चूंकि शिक्षक लैपटॉप को रख लिया है। शिक्षक के लैपटॉप रखने से विद्यार्थी नाराज थे।रमेश बेहरा द्वारा सोशल मीडिया में ट्वीट करने से कुमारडुंगी थाना प्रभारी अंकिता कुमारी सिंह काफी नाराज हो गई।22 नवंबर को पुलिस ने फोन पर धमकी दी।इसके बाद रात में रमेश को अपने घर से पत्नी व बच्चों के सामने उठाकर थाना ले गई। इतना ही नहीं एएसआई प्रकाश कुमार ने युवक को घर निकाल पर पीटते हुए परिवार समेत थाने ले आई।जहां थाना प्रभारी अंकिता सिंह ने भी युवक की जमकर पिटाई कर दी।पुलिस द्वारा मारपीट करने से रमेश काफी मानसिक तनाव में है।रमेश ने मंगलवार को पुलिस अधीक्षक को पत्र लिखकर दोषी पुलिस कर्मियों पर कार्रवाई की मांग की है।पत्र में सोशल मीडिया में ट्वीट की छाया प्रति, पुलिस द्वारा फोन में हुई बातचीत की ओडियो रिकॉर्डिंग दी गई है। प्रतिलिपि मुख्यमंत्री, डीजीपी, आयुक्त दी गई है।दूसरी ओर कुमारडुंगी थाना प्रभारी अंकिता सिंह ने कहा कि ट्वीट करने के बाद मामले को गंभीरता से लेते हुए अभिभावक को थाना बुलाया गया था।उससे पूछताछ की गई थी।