हजारीबाग । शनिवार की देर शाम को क्षितिज हॉस्पिटल के समीप एक बेहद दर्दनाक घटना घटी। जिसमें चुरचू प्रखंड के ग्राम चीची कला निवासी एक परिवार के लोग टेंपो पर सवार होकर एचएमसीएच से एक मरीज का ड्रेसिंग कराकर वापस अपने घर लौट रहे थे तभी अचानक एक गैस टैंकर गाड़ी ने अनियंत्रित होकर इनके टेंपो को अपनी चपेट में ले लिया। इससे टेंपो पर सवार चीची कला ग्राम निवासी 35 वर्षीय तुलसी महतो की मौत हो गई और इनकी भाभी रायमनी देवी गंभीर चोट आने के कारण घायल हो गई। जब इसकी जानकारी स्थानीय चिची कला ग्राम निवासी समाजसेवी रंगीला महतो ने हजारीबाग सदर विधायक मनीष जायसवाल को दी। जिसे गंभीरता से लेते हुए विधायक जायसवाल ने तुरंत अपने मीडिया प्रतिनिधि रंजन चौधरी को एचएमसीएच भेजा। विधायक मीडिया प्रतिनिधि रंजन चौधरी अबिलंब हॉस्पिटल पहुंचे और देर शाम से मध्य रात्रि तक काफी जद्दोजहद करके घायल मरीज का एक्स- रे और उसके टूटे हुए हाथ पर स्लैब लगवाया और मृतक के शव को पोस्टमार्टम हाउस में रखवाया। रंजन चौधरी के मुताबिक यहां मशक्कत करने की जरूरत इसलिए पड़ी क्योंकि एचएमसीएच की प्रबंधकीय लापरवाही चरम पर है। ट्रॉमा सेंटर जैसे आपातकालीन जगह पर सिर्फ एक स्ट्रेचर से काम लिया जा रहा है। ट्रामा के इस केस को लेकर जब हमलोग पंहुचे तो यहां चाइल्ड स्पेशलिस्ट चिकित्सक अपनी सेवा प्रदान कर रहे थे। जबकि मरीज को तत्काल सर्जन या ऑर्थोपेडिक डॉक्टर की आवश्यकता थी। इस स्ट्रेचर के अभाव में यहां बड़कागांव के एक मरीज के परिजन को भी काफी मशक्कत करनी पड़ी। विधायक मीडिया प्रतिनिधि रंजन चौधरी ने कहा कि एचएमसीएच की इस कुव्यवस्था के खिलाफ हम निरंतर आवाज़ उठा रहे हैं लेकिन एचएमसीएच प्रबंधन की कुम्भकरणी की नींद नहीं टूट रही है। जनहित के इस ज्वलंत मामले को हेमंत सरकार भी गंभीरता से नहीं ले रही है